पूर्व मंत्री लाल सिंह ने दिया बगावती बयान

कठुआ रेपकांड के बाद इस्तीफा देने वाले भाजपा के पूर्व मंत्री लाल सिंह ने एक बार फिर महबूबा सरकार पर निशाना साधते हुए ईंट का जवाब पत्थर से देने की बात कही है.लाल सिंह ने शक्ति प्रदर्शन के लिए जम्मू से लेकर कठुआ तक निकाली गई यात्रा में रास्ते में नुक्कड़ सभा में यह बगावती बयान दिया.जम्मू : कठुआ रेपकांड के बाद इस्तीफा देने वाले भाजपा के पूर्व मंत्री लाल सिंह ने एक बार फिर महबूबा सरकार पर निशाना साधते हुए ईंट का जवाब पत्थर से देने की बात कही है.लाल सिंह ने शक्ति प्रदर्शन के लिए जम्मू से लेकर कठुआ तक निकाली गई यात्रा में रास्ते में नुक्कड़ सभा में यह बगावती बयान दिया.  गौरतलब है कि कठुआ में एक नाबालिग बालिका के साथ किए गए दुष्कर्म और फिर हत्या के बाद इस मामले के तूल पकड़ने पर मेहबूबा सरकार में शामिल भाजपा के दो मंत्रियों को इस्तीफा देना पड़ा था.इनमें लाल सिंह भी शामिल हैं. अब लालसिंह ने शक्ति प्रदर्शन करते हुए जम्मू से कठुआ तक यात्रा निकाली. इसमें उनके काफिले में करीब आधा दर्जन गाड़ियां थी जो बीच में रूककर नुकड़ सभा भी कर रहे थे.लोढ़ी मोड़ पर हुई एक नुक्कड़ सभा में उन्होंने ईंट का जवाब पत्थर से देने की बात कही.  आपको बता दें कि इन नुक्कड़ सभाओं में उनके समर्थक उनके करीब ही खड़े होकर महबूबा सरकार के विरोध में नारे लगा रहे थे.साथ ही उन्होंने कठुआ रेप कांड की सीबीआई जांच करने की मांग भी की.उन्होंने सवाल किया कि इतने दिनों तक बच्ची नहीं मिली तो इसमें किसका कसूर है. उन्होंने मुख्यमंत्री मेहबूबा मुफ़्ती को घेरते हुए कहा कि यह विभाग तो उनके पास है तो अपनी इस नाकामी के लिए वह त्याग पत्र क्यों नहीं देती हैं. सीबीआई से जांच कराने में सरकार को क्या परेशानी है.कठुआ कांड पर हर कोई शर्मिंदा है.दोषियों को पकड़ा जाना चाहिए.

गौरतलब है कि कठुआ में एक नाबालिग बालिका के साथ किए गए दुष्कर्म और फिर हत्या के बाद इस मामले के तूल पकड़ने पर मेहबूबा सरकार में शामिल भाजपा के दो मंत्रियों को इस्तीफा देना पड़ा था.इनमें लाल सिंह भी शामिल हैं. अब लालसिंह ने शक्ति प्रदर्शन करते हुए जम्मू से कठुआ तक यात्रा निकाली. इसमें उनके काफिले में करीब आधा दर्जन गाड़ियां थी जो बीच में रूककर नुकड़ सभा भी कर रहे थे.लोढ़ी मोड़ पर हुई एक नुक्कड़ सभा में उन्होंने ईंट का जवाब पत्थर से देने की बात कही.

आपको बता दें कि इन नुक्कड़ सभाओं में उनके समर्थक उनके करीब ही खड़े होकर महबूबा सरकार के विरोध में नारे लगा रहे थे.साथ ही उन्होंने कठुआ रेप कांड की सीबीआई जांच करने की मांग भी की.उन्होंने सवाल किया कि इतने दिनों तक बच्ची नहीं मिली तो इसमें किसका कसूर है. उन्होंने मुख्यमंत्री मेहबूबा मुफ़्ती को घेरते हुए कहा कि यह विभाग तो उनके पास है तो अपनी इस नाकामी के लिए वह त्याग पत्र क्यों नहीं देती हैं. सीबीआई से जांच कराने में सरकार को क्या परेशानी है.कठुआ कांड पर हर कोई शर्मिंदा है.दोषियों को पकड़ा जाना चाहिए.

You May Also Like

English News