पूर्व सेनाध्यक्ष सुहाग से मिले अमित शाह

पूर्व सेना प्रमुख जनरल दलबीर सिंह सुहाग और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की मुलाक़ात से हरियाणा की राजनीति में हलचल मचने की खबर है. इस मुलाकात के बाद सुहाग के भाजपा से जुड़ने की अटकलें तेज हो गई है . जनरल सुहाग मूल रूप से हरियाणा के झज्जर जिले के निवासी हैं.पूर्व सेना प्रमुख जनरल दलबीर सिंह सुहाग और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की मुलाक़ात से हरियाणा की राजनीति में हलचल मचने की खबर है. इस मुलाकात के बाद सुहाग के भाजपा से जुड़ने की अटकलें तेज हो गई है . जनरल सुहाग मूल रूप से हरियाणा के झज्जर जिले के निवासी हैं.    उल्लेखनीय है कि जनरल सुहाग 31 जुलाई 2014 से 31 दिसंबर 2016 तक भारतीय सेना के प्रमुख रह चुके हैं.भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के साथ हुई भेंट के बाद यह अनुमान लगाया जा रहा है कि जनरल सुहाग को 2019 के चुनाव में रोहतक संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ने की पेशकश की जा सकती है. हालाँकि सुहाग की पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा से भी मित्रता है. फिर भी राजनीतिक कयास लगाए जा रहे हैं.    आपको बता दें कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने मंगलवार को बुद्धिजीवी संपर्क अभियान 'समर्थन के लिए संपर्क' के तहत जनरल सुहाग तथा संविधान विशेषज्ञ सुभाष कश्यप से विभिन्न विषयों पर चर्चा की . इस अभियान के में केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की चार साल की उपलब्धियों के बारे में जानकारी दी जा रही है . इसी क्रम में हरियाणा भाजपा पूरे राज्य में बुद्धिजीवियों से संपर्क कर मोदी व मनोहर सरकार के अंत्योदय मिशन पर बुद्धिजीवियों से चर्चा करेगी.

उल्लेखनीय है कि जनरल सुहाग 31 जुलाई 2014 से 31 दिसंबर 2016 तक भारतीय सेना के प्रमुख रह चुके हैं.भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के साथ हुई भेंट के बाद यह अनुमान लगाया जा रहा है कि जनरल सुहाग को 2019 के चुनाव में रोहतक संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ने की पेशकश की जा सकती है. हालाँकि सुहाग की पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा से भी मित्रता है. फिर भी राजनीतिक कयास लगाए जा रहे हैं.

आपको बता दें कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने मंगलवार को बुद्धिजीवी संपर्क अभियान ‘समर्थन के लिए संपर्क’ के तहत जनरल सुहाग तथा संविधान विशेषज्ञ सुभाष कश्यप से विभिन्न विषयों पर चर्चा की . इस अभियान के में केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की चार साल की उपलब्धियों के बारे में जानकारी दी जा रही है . इसी क्रम में हरियाणा भाजपा पूरे राज्य में बुद्धिजीवियों से संपर्क कर मोदी व मनोहर सरकार के अंत्योदय मिशन पर बुद्धिजीवियों से चर्चा करेगी.

You May Also Like

English News