प्यास बनी मौत की वजह, तीन युवक जिंदा जलकर मरे, पढि़ए कैसे?

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के हरदोई जनपद में तीन मजदूर खेत में गिरे बिजली की  की चेपट में आने से जिंदा झुलस गये। तीनों की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गयी। घटना उस वक्त हुई जब तीनों ईट भट्टा से पानी पीने के लिए जा रहे थे। एक दूसरे को बचाने की कोशिश में तीनों की मौत हो गई।



हरदोई पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार बघौड़ा में एक ईंट भ_ा है। बुधवार को ईंट की पथाई का कार्य शुरू हुआ था। ईंट पथाई के कार्य के लिए कई मजदूरों को बुलाया गया था। जिसमें बघौली थाना क्षेत्र के बघौली चौराहा नई बस्ती निवासी भैया लाल के दो बेटे अनूप और उसका छोटा बेटा अजय व सदरपुर निवासी सुधीर भी गया हुआ था। बुधवार की शाम को करीब पांच बजे तीनों मजदूर पड़ोस में संचालित एक डिग्री कालेज में लगे नल से पानी पीने के लिए भ_े से निकले थे। रास्ते में अभिषेक मिश्रा का खेत था। तीनों उसी से होकर जा रहे थे।

खेत में एचटी लाइन का तार टूटा पड़ा था। आगे चल रहा अनूप उसकी चपेट में आ गया। उसको बचाने के लिए उसका भाई अजय आगे बढ़ा तो वह भी चिपक गया। दोनों को चिपका देख सुधीर ने उनको बचाने का प्रयास कियाए जिससे तीनों उसकी चपेट में आ गए और तीनों की ही मौके पर ही मौत हो गई। घटना की जानकारी अन्य मजदूरों को होते ही हड़कंप मच गया। आसपास के लोगों ने विद्युत उपकेंद्र गौसगंज को सूचना देकर बिजली बंद कराई। सूचना पाकर मौके पर पुलिस भी पहुंच गयी। पुलिस ने छानबीन के बाद तीनों के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। इस घटना के बावजूद भी मौके पर बिजली विभाग का कोई भी अधिकारी और कर्मचारी मौके पर नहीं पहुंचा।

You May Also Like

English News