प्रणब दा को मिला कांग्रेस की इफ्तार पार्टी का न्योता

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को कांग्रेस की इफ्तार पार्टी का न्योता मिला. पहले कांग्रेस ने प्रणब मुखर्जी और पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी को इफ्तार पार्टी में नहीं बुलाने का फैसला किया था जिसे आरएसएस मुख्यालय जाने से लेकर जोड़ा जाने लगा जबकि एक अन्य अफवाह के चलते उन्हें नागपुर जाने की वजह से कांग्रेस नहीं बुला रही यह बात भी चली थी.पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को कांग्रेस की इफ्तार पार्टी का न्योता मिला. पहले कांग्रेस ने प्रणब मुखर्जी और पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी को इफ्तार पार्टी में नहीं बुलाने का फैसला किया था जिसे आरएसएस मुख्यालय जाने से लेकर जोड़ा जाने लगा जबकि एक अन्य अफवाह के चलते उन्हें नागपुर जाने की वजह से कांग्रेस नहीं बुला रही यह बात भी चली थी.    वही कांग्रेस ने इसे प्रोटोकॉल की वजह से नहीं बुलाया जाना बताया था. इस बीच प्रणब के दफ्तर ने भी कहा की प्रोटोकॉल की वजह से उन्हें बुलाना सही नहीं. मगर जब न बुलाये जाने को आरएसएस मुख्यालय जाने से जोड़ कर देखा जाने लगा तो पार्टी ने उन्हें निमंत्रित कर अन्य विवादों और अफवाहों पर विराम लगाने की समझदारी दिखाई.    गौरतलब है कि कांग्रेस ने 13 जून को दिल्ली के एक होटल में इफ्तार पार्टी का आयोजन किया है जिसे अल्पसंख्यक विभाग आयोजित करेगा.  गौरतलब है कि प्रणब मुखर्जी के आरएसएस मुख्यालय जा कर एक समारोह में शिरकत कर लेने के बाद से ही सियासी बयानबाजियां तेज हो गई थी. पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को कांग्रेस की इफ्तार पार्टी का न्योता मिला. पहले कांग्रेस ने प्रणब मुखर्जी और पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी को इफ्तार पार्टी में नहीं बुलाने का फैसला किया था जिसे आरएसएस मुख्यालय जाने से लेकर जोड़ा जाने लगा जबकि एक अन्य अफवाह के चलते उन्हें नागपुर जाने की वजह से कांग्रेस नहीं बुला रही यह बात भी चली थी.    वही कांग्रेस ने इसे प्रोटोकॉल की वजह से नहीं बुलाया जाना बताया था. इस बीच प्रणब के दफ्तर ने भी कहा की प्रोटोकॉल की वजह से उन्हें बुलाना सही नहीं. मगर जब न बुलाये जाने को आरएसएस मुख्यालय जाने से जोड़ कर देखा जाने लगा तो पार्टी ने उन्हें निमंत्रित कर अन्य विवादों और अफवाहों पर विराम लगाने की समझदारी दिखाई.    गौरतलब है कि कांग्रेस ने 13 जून को दिल्ली के एक होटल में इफ्तार पार्टी का आयोजन किया है जिसे अल्पसंख्यक विभाग आयोजित करेगा.  गौरतलब है कि प्रणब मुखर्जी के आरएसएस मुख्यालय जा कर एक समारोह में शिरकत कर लेने के बाद से ही सियासी बयानबाजियां तेज हो गई थी.

वही कांग्रेस ने इसे प्रोटोकॉल की वजह से नहीं बुलाया जाना बताया था. इस बीच प्रणब के दफ्तर ने भी कहा की प्रोटोकॉल की वजह से उन्हें बुलाना सही नहीं. मगर जब न बुलाये जाने को आरएसएस मुख्यालय जाने से जोड़ कर देखा जाने लगा तो पार्टी ने उन्हें निमंत्रित कर अन्य विवादों और अफवाहों पर विराम लगाने की समझदारी दिखाई. 

गौरतलब है कि कांग्रेस ने 13 जून को दिल्ली के एक होटल में इफ्तार पार्टी का आयोजन किया है जिसे अल्पसंख्यक विभाग आयोजित करेगा.  गौरतलब है कि प्रणब मुखर्जी के आरएसएस मुख्यालय जा कर एक समारोह में शिरकत कर लेने के बाद से ही सियासी बयानबाजियां तेज हो गई थी. 

 

You May Also Like

English News