प्रदूषण पर शिकंजा कसने से चीन को चुकानी पड़ी ये बड़ी कीमत

उद्योगों द्वारा फैलाए जा रहे प्रदूषण को रोकना चीन के लिए भारी पड़ गया. प्रदूषण पर शिकंजा कसने से अक्टूबर महीने में चीन का औद्योगिक उत्पादन धीमा रहा. सरकारी आंकड़ों से यह जानकारी मिली है.प्रदूषण पर शिकंजा कसने से चीन को चुकानी पड़ी ये बड़ी कीमतजनता के लिए इस तरह से सिरदर्द बनता जा रहे 10 रुपए के सिक्के, पढ़ें जरूरी खबर

एजेंसी की खबर के मुताबिक, राष्ट्रीय सांख्यिकी ब्यूरो एनबीसी ने कहा- कारखानों में उत्पादन सितंबर महीने में 6.6 प्रतिशत था जो कि अक्टूबर महीने में कम होकर 6.2 प्रतिशत रह गया. यह ब्लूमबर्ग न्यूज सर्वेक्षण के पूर्वानुमान 6.3 प्रतिशत से भी कम है.

धुंध के चलते कारखानों को किया था बंद 

देश में धुंध से प्रभावित शहरों को साफ करने के अभियान के तहत सरकार ने कुछ इस्पात कारखानों के उत्पादन को कम किया गया था. इसके साथ ही, पिछले महीने कम्युनिस्ट पार्टी की नेशनल कांग्रेस के दौरान भी कारखानों को बंद कर दिया गया था. इसमें चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने पर्यावरण की रक्षा के लिए और कदम उठाने के लिए कहा था. एनबीएस की प्रवक्ता लियू एहुआ ने कहा कि चीन की अर्थव्यवस्था ने गुणवत्ता में सुधार के साथ स्थिर प्रदर्शन को बरकरार रखा है.

बता दें कि एनबीएस के आंकड़ों के मुताबिक, अक्टूबर में खुदरा बिक्री की वृद्धि दर गिरकर 10 प्रतिशत रही, जो सितंबर महीने के मुकाबले 0.3 प्रतिशत कम है और 10.5 प्रतिशत के पूर्वानुमान से भी कम है.

You May Also Like

English News