प्रद्युम्न की हत्या के बाद रेयान स्कूल में 10 साल के छात्र को टीचर ने बेरहमी से पीटा..

स्कूलों में बच्चों के साथ हो रहे अत्याचार के मामले थमने का नाम नहीं ले रहा. गुरुग्राम के रेयान स्कूल में प्रद्युम्न की हत्या के बाद अब लुधियाना में भी रेयान इंटरनेशन स्कूल में एक 10 वर्षीय छात्र की बेहरहमी से पिटाई का मामला सामने आया है.प्रद्युम्न की हत्या के बाद रेयान स्कूल में 10 साल के छात्र को टीचर ने बेरहमी से पीटा..भारत में हुआ एशिया का सबसे अनोखा ऑपरेशन, लड़की को लगाए लड़के के हाथ

लुधियाना के जमालपुर इलाके में स्थित रेयान इंटरनेशनल स्कूल में पढ़ाई कर रहे चौथी कक्षा के 10 वर्षीय मनसुख सिंह छात्र ने स्कूल के दो टीचरों पर बेहरहमी से पिटाई का आरोप लगाया है.

पीड़ित बच्चे का आरोप है,’बुधवार के दिन उसका उसी की ही कक्षा में पढ़ने वाले एक अन्य विद्यार्थी के साथ झगड़ा हो गया था, जिसके बाद टीचरों ने शिकायत मिलने पर जहां उसके परिजनों को स्कूल में बुलाकर इसके बारे में जानकारी दी. इसके बाद अगले ही दिन स्कूल में मैडम रमन और हरप्रीत सिंह नामक पीटी के दो टीचरों ने उसकी डंडे से जमकर पिटाई कर दी.

पीड़ित छात्र मनसुख सिंह अपने घर पहुंचाकर पिटाई की बात को अपने परिजनों को बताया. परिजनों ने आरोप लगाया है कि बुधवार के दिन उनके बच्चे का किसी अन्य बच्चे के साथ झगड़ा हो गया था जिसपर उनको स्कूल बुलाकर जलील भी किया था. उसी मुद्दे को लेकर फिर से उनके बच्चे की दो टिचरों ने जमकर पिटाई की.परिजनों का कहना है कि वो इसको लेकर पुलिस कार्रवाई कर रहें हैं. पीड़ित बच्चे की पीठ पर पड़े यह निशान इस बात की गवाही दे रहें हैं कि किस बेहरहमी के साथ मासूम को पिटा गया है. 

स्कूल की प्रिंसिपल बच्चे के साथ हुई किसी भी प्रकार की मारपीट से साफ इंकार किया और कहा कि बच्चा बहुत ही शरारती है. उसने एक सहपाठी का दांत तोड़ दिया जिसको लेकर उसे एक महीने के लिए सज़ा के तौर पर स्कूल से सस्पेंड किया गया है. ऐसे में अगर बच्चे को स्कूल में मारा नहीं गया तो फिर मनसुख सिंह के पीठ पर जो चोट के निशान दिख रहे हैं. वो निशान कहां से और कैसे आए.

पुलिस का कहना है कि  उनके पास अभी तक इस मामले की लिखित रूप में कोई शिकायत नहीं आई है और जैसे ही उन्हें इस संबंधी कोई शिकायत मिलती है तो वो इस पुरे मामले की जांच करके उचित कार्यवाही करेंगे.

loading...

You May Also Like

English News