प्रद्युम्न हत्याकांड: अग्रिम जमानत पर कल HC में होगी सुनवाई, रेयान के मालिकों को एक दिन की राहत

प्रद्युम्न हत्याकांड के बाद रेयान स्कूल की लापरवाही सामने आयी, तो अब शिकंजा रेयान के मैनेजमेंट पर भी कसा जा रहा है. गिरफ्तारी के डर से रेयान के मालिकों ने बांबे हाईकोर्ट मे अग्रिम जमानत की अर्जी लगाई थी. जिस पर सुनवाई अब बुधवार को होगी. हाईकोर्ट ने इस मामले में पिंटो फैमिली को एक दिन की राहत दे दी है. बुधवार को याचिका पर सुनवाई होगी.प्रद्युम्न हत्याकांड: अग्रिम जमानत पर कल HC में होगी सुनवाई, रेयान के मालिकों को एक दिन की राहतप्रद्युम्न हत्याकांड: सरकार CBI जांच के लिए है तैयार, CM ने की परिजनों से बातचीत….

शहर-शहर रेयान स्कूल के बाहर अभिभावकों का हंगामा

गुड़गांव पुलिस की टीम मुंबई में छानबीन करने पहुंच गई है, तो मालिकों को भी गिरफ्तारी का डर सता रहा है. ऐसा इसलिए भी है क्योंकि गुरुग्राम के स्कूल में हुई जानलेवा लापरवाही ने रेयान के दूसरे स्कूलों में भी लापरवाहियों का पिटारा सा खोल दिया है.   

प्रद्युम्न का हत्यारा भले ही सलाखों के पीछे है, लेकिन अब जानलेवा लापरवाही बरतने की आंच रेयान स्कूल के कर्ताधर्ताओं तक पहुंच गई है. इसका अंदाजा अब रेयान स्कूल के रहनुमाओं को भी हो गया है, इसलिए गिरफ्तारी से बचने की जुगत में भी जुट गए हैं.

…जब SC में प्रद्युम्न के पिता को CM खट्टर ने किया फोन

यही वजह है कि गिरफ्तारी की आशंका में रेयान ग्रुप के चेयरमैन, सीईओ और एमडी ने बांबे हाईकोर्ट में सोमवार को ही अर्जी लगा दी है कि उन्हें गिरफ्तारी की हालत में अग्रिम ज़मानत मिल जाए. कोर्ट रेयान मैनेजमेंट की इस अर्जी पर अब बुधवार को सुनवाई करेगा.

उधर रेयान के टॉप मैनेजमेंट की मुश्किलें इसलिए भी बढ़ सकती हैं क्योंकि गुड़गांव पुलिस की एक टीम रेयान ग्रुप के मुख्यालय यानी मुंबई पहुंच गई है. यहां वो प्रद्युम्न के मामले में हुई लापरवाही और स्कूल के स्तर पर चल रही गड़बड़ियों के बारे में छानबीन करेगी.

रेयान मर्डर केसः मिनट दर मिनट..जानें, क्या हुआ था उस दिन?

रेयान ग्रुप चौतरफा इसलिए भी घिरता नज़र आ रहा है क्योंकि अब तक हुई तमाम शुरुआती जांच में स्कूल के स्तर पर कई खामियां सामने आई हैं. आइए जानते हैं कि ऐसी वो कौन सी बातें हैं जो रेयान ग्रुप की मुश्किलें बढ़ा रही हैं.

– गुरुग्राम के डीसी ने जांच कर अपनी रिपोर्ट शिक्षा विभाग को भेज दी है, जिसमें स्कूल के खिलाफ तमाम तथ्य निकलकर सामने आए हैं.

 

– शिक्षा विभाग अब इस रिपोर्ट के आधार पर स्कूल को नोटिस भेजने की तैयारी में है, जिसमें पूछा जाएगा कि तमाम लापरवाहियों के चलते क्यों न स्कूल की मान्यता ही रद्द कर दी जाए.

– बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने भी अपनी टीम भेजकर स्कूल में जांच कराई है, जिसमें स्कूल के स्तर पर कई गड़बड़ियां सामने आयी हैं. आयोग ने भी अपनी सिफारिशें गुरुग्राम प्रशासन को भेज दी हैं, जिनमें स्कूल के खिलाफ कार्रवाई की बात भी कही गई है.

– पुलिस ने प्रद्युम्न के दो सहपाठियों से भी पूछताछ पूरी कर ली है और सूत्रों के मुताबिक इसमें भी पुलिस को कुछ नई जानकारियां हाथ लगी है.

– दिल्ली एनसीआर समेत तमाम दूसरे शहरों से भी अब रेयान स्कूल की लापरवाहियों की कहानियां निकलकर सामने आ रही हैं, जिसमें बच्चों को अपनी जान गंवानी पड़ी थी.

– लापरवाहियों के अटूट सिलसिले और रेयान ग्रुप के स्कूलों में हुए हादसों से अब अभिभावकों का भी गुस्सा फूटने लगा है, जिसकी तमाम तस्वीरें अलग अलग जगह से पिछले दो दिनों में सामने आई हैं.

हालांकि प्रद्युम्न के पिता की सीबीआई जांच की मांग वाली याचिका सुप्रीम कोर्ट ने मंजूर कर ली है और केंद्र के साथ ही हरियाणा सरकार से जवाब के लिए नोटिस भी जारी कर दिए गए हैं.

गुरुग्राम पुलिस पहले ही ये ऐलान कर चुकी है कि वो सात दिन के भीतर प्रद्युम्न के हत्यारे के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर देगी, लेकिन मौके की नज़ाकत को देखते हुए हरियाणा सरकार भी अब जल्दी ही इस मामले को सीबीआई को सौंपने का फैसला कर सकती है.

You May Also Like

English News