प्रद्युम्न हत्याकांड: ड्राइवर बोला- जुर्म कबूल करने के लिए मुझे दी नरक जैसी यातना

रायन स्कूल के छात्र प्रद्युम्न हत्याकांड में आरोपी बस कंडक्टर अशोक बुधवार को जेल से रिहा होकर अपने गांव घामरोज पहुंचा।
 

बातचीत में आरोपी अशोक ने बताया कि मुझे पुलिस ने मारा और जुल्म कबूल करने के लिए दबाव बनाया था।
बच्चों की कसमें खिलाई गईं। मैंने छात्र की हत्या नहीं की थी। अशोक ने अदालत पर विश्वास जताया और कहा कि छात्र के पीड़ित परिजनों को भी न्याय जरूर मिलेगा।
 

सीबीआई जांच पर भरोसा जताया। उसने कहा कि मुझे भी न्याय जरूर मिलेगा।
 

वहीं, जब गांव में अशोक पहुंचा तो काफी संख्या में वहां पर लोगों की भीड़ जमा थी। अशोक के वकील मोहित शर्मा ने बाद में किसी से बातचीत न करने के लिए कहा।
 
 

You May Also Like

English News