प्रद्युम्न हत्याकांड: फंसाने वाले पुलिस अधिकारियों पर बस कंडक्टर अशोक करेगा केस…

गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में छात्र प्रद्युम्न की हत्या मामले में शुरुआत में गिरफ्तार किए गए बस कंडक्टर अशोक कुमार के परिजन अब मामले में फंसाने वाले पुलिस अधिकारियों के खिलाफ केस करेंगे. रेयान इंटरनेशनल स्कूल के दूसरी कक्षा के छात्र की हत्या के सिलसिले में CBI द्वारा 16 वर्षीय संदिग्ध छात्र के पकड़ने के बाद बस कंडक्टर अशोक कुमार के परिवार ने यह फैसला लिया है.प्रद्युम्न हत्याकांड: फंसाने वाले पुलिस अधिकारियों पर बस कंडक्टर अशोक करेगा केस...GST काउंसिल बैठक के बीच हुई सियासी जंग, कांग्रेस ने कहा- बदलाव चुनावी फायदे के लिए

प्रद्युम्न हत्याकांड में पुलिस ने शुरू में अशोक कुमार को गिरफ्तार किया था. अशोक के पिता अमीरचंद ने कहा, ”यह अब साफ हो चुका है कि मेरे बेटे अशोक को फंसाया गया और बलि का बकरा बनाया गया. हमने गुडगांव पुलिस के विशेष जांच दल (SIT) के अधिकारियों के खिलाफ केस दर्ज कराने का निर्णय लिया है. इन अधिकारियों ने उसे फंसाया और मीडिया के सामने झूठा अपराध कबूल करने के लिए टार्चर किया.”

अमीरचंद ने आरोप लगाया कि इन पुलिस अधिकारियों ने अशोक को नशे की डोज दी. उन्होंने बताया कि उनके परिवार ने केस दर्ज करने के लिए गांव वालों से आर्थिक मदद मांगी है. अमीरचंद का कहना है कि सभी गांव वाले हमारे साथ हैं और अशोक को न्याय दिलाना चाहते हैं. साथ ही मामले में गैर जिम्मेदार रवैया अपनाने वाले पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई चाहते हैं.   

वहीं, विपक्षी दलों ने बीजेपी सरकार और मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर पर पुलिस जांच में नाकामी के लिए हमला बोला है. पूर्ववर्ती हुडा सरकार के मंत्री अजय यादव ने तीन डीसीपी और विशेष जांच दल (SIT) के सदस्यों के खिलाफ गहन जांच की मांग की है, जिन्होंने गरीब कंडक्टर अशोक कुमार को बलि का बकरा बनाया. हरियाणा प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अशोक तंवर ने कहा कि यह खट्टर सरकार की विफलता है.

You May Also Like

English News