प्रेग्नेंसी में बिल्कुल ना करें ये 5 काम, बच्चे को पहुंचता है नुकसान!

प्रेग्नेंसी के दौरान आपको बहुत सारी सावधानियां बरतने की सलाह दी जाती हैं ताकि आप और आपकी कोख में पल रहा बच्चा दोनों सुरक्षित रहें. आपको यह भी ध्यान में रखने की जरूरत है कि आप प्रेग्नेंसी पीरियड में क्या खाएं और क्या ना खाएं, क्या एक्सरसाइज करें और जरूरी सप्लीमेंट्स लेते रहें. हालांकि इन सबके अलावा कुछ ऐसी भी चीजें हैं जिसमें लापरवाही बरतना नुकसानदायक साबित हो सकता है.प्रेग्नेंसी में बिल्कुल ना करें ये 5 काम, बच्चे को पहुंचता है नुकसान!

आइए जानते हैं प्रेग्नेंसी के दौरान किन चीजों से आपको और आपके बच्चों को नुकसान पहुंच सकता है…

1- नुकसानदायक गंध से दूर रहें-कई चीजों की गंध से आपके बच्चे को नुकसान पहुंच सकता है. अगर आप खुद घर की दीवारों पर पेंट करने जा रही हैं तो रुक जाइए क्योंकि यह आप पर बुरा असर डालता है. अगर घर के किसी हिस्से में पुताई हो रही हो तो उस जगह से दूर रहें. पेंट से निकलने वाले कुछ पदार्थ प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए नुकसानदायक साबित होते हैं. उन्हें सांस के साथ अंदर लेने से बचें.

2-गर्म पानी से नहाना- आपके बच्चे के लिए ठीक नहीं-अगर गर्म पानी से नहाकर आपको रिलैक्स महसूस होता है तो थोड़ा ठहर जाइए. हालांकि गर्म पानी से नहाने में कोई डरने की बात नहीं है लेकिन संभव है कि शरीर का तापमान 101 डिग्री तक पहुंच जाए और आपका ब्लड प्रेशर गिर सकता है. ऐसा होने पर आपके बच्चे को जरूरी पोषक तत्व और ऑक्सीजन की कमी हो सकती है. ऑर्गैनाइजेशन ऑफ टेराटोलॉजी इन्फॉर्मेशन सर्विस (OTIS) का सुझाव है कि गर्भवती महिलाओं को अपने शरीर का तापमान 101 डिग्री से नीचे ही रखने की कोशिश करनी चाहिए. 

3-फलों के जूस का अत्यधिक सेवन-यह सुनकर भले ही आपको हैरानी हो लेकिन फलों का जूस प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए अच्छा नहीं होता है क्योंकि इसमें शुगर की मात्रा बहुत ज्यादा होती है. फलों के जूस से बेहतर है कि आप फल खाएं क्योंकि जूस में शुगर की मात्रा अधिक और फाइबर कम होता है. इससे ब्लड शुगर का स्तर बढ़ जाता है. ज्यादा मात्रा में फलों के जूस के सेवन से गर्भावधि मधुमेह (जेस्टेशनल डायबिटीज) हो सकता है.

4- पीठ के बल सोना-प्रेग्नेंसी के दौरान सोने की सबसे सही पोजिशन बाईं करवट सोना है. हालांकि यह आपके लिए थोड़ा मुश्किल भरा हो सकता है और आप अपनी पोजिशन बदलना चाहें तो आप ऐसा कर सकती हैं. लेकिन एक बात ध्यान में रखें कि पीठ के बल सोने से बचें. जब गर्भवती महिला पीठ के बल लेटती है तो गर्भाशय का पूरा भार शरीर के दूसरे अंगों पर पड़ता है. इससे ब्लड सर्कुलेशन भी बिगड़ सकता है. पीठ के बल सोने से सांस संबंधी समस्याएं भी हो सकती हैं.

5- स्किन केयर प्रोडक्ट्स-आप अपनी स्किन पर जो कुछ भी लगाती हैं, वह शरीर द्वारा अवशोषित कर लिया जाता है और इसका प्रभाव आपके बच्चे पर भी पड़ता है. प्रेग्नेंसी के दौरान इन केमिकल्स से खासतौर पर बचाव करना चाहिए- सैलिसिलक एसिड, रेटिनॉयड और बेंजाइल पेरोक्साइड. अपने ब्यूटी प्रोडक्ट खरीदने से पहले एक बार उसके इन्ग्रेंडिएंट्स जरूर चेक कर लें.

You May Also Like

English News