प्रो कबड्डी लीग में रिकॉर्ड बोली लगने पर बेहद उत्साहित हैं ये…

New Delhi : प्रो कबड्डी लीग के पांचवें संस्करण में सबसे महंगे बिके रेडर नितिन तोमर अपनी इस उपलब्धि से बेहद खुश हैं। उनका कहना है कि उन्हें इतनी रकम मिलने की उम्मीद नहीं थी।प्रो कबड्डी लीग में रिकॉर्ड बोली लगने पर बेहद उत्साहित हैं ये...

नितिन को पहले चरण की नीलामी में लीग में शामिल नई टीम यूपी ने 93 लाख रुपये की भारी भरकम रकम देकर खरीदा है। अपनी बोली से खुश नितिन ने आईएएनएस से फोन पर बातचीत में कहा, ‘ मै यूपी टीम को धन्यवाद देना चाहूंगा, जिसने मुझे 93 लाख में खरीदा और मुझ पर भरोसा जताया। इसके बाद मैं अपने परिवार का धन्यवाद देना चाहूंगा। बहुत खुशी हो रही है ‘।

नितिन से पहले विश्व कप जीतने वाली भारतीय टीम का हिस्सा रहे मंजीत चिल्लर शुरुआती चरण में सबसे महंगे खिलाड़ी चल रहे थे। उन्हें जयपुर पिंक पैंथर्स ने 75।5 लाख रुपये की कीमत में अपने साथ जोड़ा था। लग रहा था कि मंजीत का रिकार्ड नहीं टूटेगा और वह लीग के सबसे महंगे खिलाड़ी रहेंगे, लेकिन अंतिम चरण की नीलामी में नितिन, मंजीत को पछाड़ गए। मंजीत को पीछे छोड़ने पर नितिन ने कहा, ‘ यह फ्रेंचाइजी के मालिकों का फैसला था, मुझे उम्मीद नहीं थी कि मैं यहां तक पहुंच पाऊंगा ‘।

सबसे महंगा खिलाड़ी बनने के बाद अच्छे प्रदर्शन का दबाव होगा? इस सवाल का जवाब देते हुए नितिन ने कहा, ‘ दबाव वाली कोई बात नहीं है, लेकिन हां मेहनत ज्यादा करनी पड़ेगी। फोकस ज्यादा करना पड़ेगा। अच्छा प्रदर्शन करना होगा और टीम को ज्यादा से ज्यादा देना होगा ‘। लीग के पिछले संस्करण में कुल आठ टीमों ने हिस्सा लिया था। लेकिन इस संस्करण में चार नई टीमें शामिल की गई हैं। इन चार नई टीमों में चेन्नई, यूपी, गुजरात और हरियाणा से टीमें उतर रही हैं।

पुरानी टीमों के सामने एक नई टीम के साथ खेलने का प्रदर्शन पर क्या असर पड़ता है? इस पर नितिन का कहना था, ‘ नहीं, ऐसा कुछ नहीं हैं। क्योंकि लीग में जिसके साथ खेलते हैं, वो खिलाड़ी लगभग वही होते हैं, जिनके साथ हम पहले खेल चुके होते हैं। हां ये है कि नई टीम आई है तो संयोजन बनाना पड़ेगा। शिविर लगेगा तब टीम संयोजन पर काम करेंगे ‘ ।

नितिन एक हरफनमौला खिलाड़ी हैं और भारत की विश्व विजेता टीम का हिस्सा रहे हैं। इस लीग में एक हरफनमौला खिलाड़ी के तौर पर किस तरह अपने खेल से तालमेल बिठाएंगे? इस पर नितिनि ने कहा, ‘ मेरी कोशिश रेड पर ज्यादा ध्यान देने की होगी, लेकिन अगर हमारा डिफेंस कमजोर पड़ा तो मैं वहां भी जिम्मेदारी संभालने के लिए तैयार रहूंगा ‘।

You May Also Like

English News