ये शक्स, पढ़ाई के नाम पर बच्चों का बनाता था ऐसा वीडियो, जिससे करता था मोटी कमाई

इस्लामाबाद। बच्चों की पोर्न वीडियो क्लिप्स बनाकर उसे ऑनलाइन बेचने के लिए गिरफ्तार किए गए पाकिस्तान के एक शख्स ने स्वीकार कर लिया है कि उसने करीब 25 बच्चों को कंप्यूटर शिक्षा देने का लालच देकर उनसे यह घृणित काम करवाया। समाचार पत्र ‘डान’ के वेब संस्करण पर गुरुवार को प्रसारित रिपोर्ट के मुताबिक, संघीय जांच एजेंसी (एफआईए) की साइबर अपराध शाखा ने सादात अमीन (45) को मंगलवार को पंजाब प्रांत के सरगोधा से गिरफ्तार कर लिया और उसका कंप्यूटर और लैपटॉप भी जब्त कर लिया।

किसी फिल्म से कम नहीं है इस बल्लेबाज की कहानी, पिता हैं हीरो !

एफआईए की साइबर अपराध शाखा के प्रमुख उप निदेशक शाहिद हसन ने कहा कि यह पाकिस्तान में इस तरह का पहला मामला है।

एफआईए के एक अधिकारी ने डान से कहा, “पूछताछ के दौरान अमीन ने स्वीकार किया है कि वह पिछले कई वर्षो से बच्चों की पोर्न वीडियो क्लिप्स बनाकर ऑनलाइन बेच रहा था। अमीन बच्चों को कंप्यूटर शिक्षा देने का लालच देकर उनसे यह घृणित काम कराता था। यहां तक कि वह पीड़ितों के अभिभावकों को 3,000 से लेकर 5,000 पाकिस्तानी रुपए देकर कहता था कि बच्चे सरगोधा में एक कमरे की कार्यशाला में कंप्यूटर हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर सीखेंगे।”

एफआईए साइबर अपराध शाखा ने नार्वे दूतावास से एक पत्र के जरिए यह सूचना मिलने के बाद मामले की जांच शुरू कर दी कि पाकिस्तान पुलिस ने बच्चों की पोनरेग्राफिक सामग्री के संबंध में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है और पाकिस्तान में रहने वाला सादात अमीन भी उसका एक साथी है।

अमीन ने स्वीकार किया है कि वह नार्वे और स्वीडन के ग्राहकों को केवल अपनी रिकॉर्डिग ही नहीं, बल्कि रूसी और बांग्लादेशी पोर्न वेबसाइट्स के सर्वरों से हैक की गई वीडियो क्लिप्स भी बेचता था।

अधिकारी ने कहा कि नार्वे का एक व्यक्ति अमीन को छोटे बच्चों की अलग-अलग वीडियो के लिए 100 से 400 डॉलर तक देता था।

अब तक एफआईए ने अमीन के पास से विदेशी वेबसाइट्स से हैक की गई बच्चों की 65,000 पोर्न वीडियो क्लिप्स बरामद की हैं।

 

You May Also Like

English News