फिर आग पकड़ने लगी हैं तेल की कीमतें, अब तक इतना इजाफा

तेल की कीमतों में एक बार फिर इजाफा देखने को मिला है. मई में 16 दिनों तक लगातार पेट्रोल-डीजल के दाम बढे थे. वहीं अब एक बार फिर यह सिलसिला शुरू हो चुका है. ताजा जानकारी के मुताबिक़, आज भी तेल की कीमतों में मामूली बढ़त देखने को मिली है. जहां पेट्रोल के दाम 18 पैसे प्रति लीटर तक बढे है. वहीं डीजल के दामों में 14 पैसे प्रति लीटर का इजाफा हुआ है. बता दे कि 4 जुलाई से लगातार पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ रहे है. तेल की कीमतों में एक बार फिर इजाफा देखने को मिला है. मई में 16 दिनों तक लगातार पेट्रोल-डीजल के दाम बढे थे. वहीं अब एक बार फिर यह सिलसिला शुरू हो चुका है. ताजा जानकारी के मुताबिक़, आज भी तेल की कीमतों में मामूली बढ़त देखने को मिली है. जहां पेट्रोल के दाम 18 पैसे प्रति लीटर तक बढे है. वहीं डीजल के दामों में 14 पैसे प्रति लीटर का इजाफा हुआ है. बता दे कि 4 जुलाई से लगातार पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ रहे है.     4 जुलाई से लेकर अब तक एक ही दिन ऐसा रहा है, जब पेट्रोल-डीजल के दाम ना बढ़े हो. अगर एक दिन को छोड़ दिया जाए तो प्रतिदिन तेल की कीमतों में इजाफा हुआ है. बता दे कि 11 जुलाई को ही पेट्रोल और डीजल के दाम स्थिर थे. बाकी दिन लगातार दामों में उछाल देखने को मिला है. 4 जुलाई से लेकर अब तक की बात की जाए तो इस दौरान कुल 1 रूपए से अधिक की वृद्धि तेल के कीमतों में हो चुकी है.     देश में इससे पहले कर्नाटक चुनाव के दौरान 14 मई से लेकर 30 मई तक करीब साढ़े तीन रूपए तक तेल की कीमतों में इजाफा हुआ था. जसिके बाद देश भर में इसे लेकर सरकार के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन हुए थे. जहां सरकार ने इसके बाद लगातार तेल की कीमतें काम की थी.

4 जुलाई से लेकर अब तक एक ही दिन ऐसा रहा है, जब पेट्रोल-डीजल के दाम ना बढ़े हो. अगर एक दिन को छोड़ दिया जाए तो प्रतिदिन तेल की कीमतों में इजाफा हुआ है. बता दे कि 11 जुलाई को ही पेट्रोल और डीजल के दाम स्थिर थे. बाकी दिन लगातार दामों में उछाल देखने को मिला है. 4 जुलाई से लेकर अब तक की बात की जाए तो इस दौरान कुल 1 रूपए से अधिक की वृद्धि तेल के कीमतों में हो चुकी है. 

देश में इससे पहले कर्नाटक चुनाव के दौरान 14 मई से लेकर 30 मई तक करीब साढ़े तीन रूपए तक तेल की कीमतों में इजाफा हुआ था. जसिके बाद देश भर में इसे लेकर सरकार के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन हुए थे. जहां सरकार ने इसके बाद लगातार तेल की कीमतें काम की थी. 

You May Also Like

English News