फिर दोहराया गया प्रद्युम्न कांड, 9वीं के बच्चे ने की जूनियर छात्र की हत्या…

गुरुग्राम के एक प्राइवेट स्कूल में पढ़ने वाले प्रद्युम्न ठाकुर की हत्या ने पूरे देश में हंगामा खड़ा कर दिया था और स्कूल परिसर में बच्चों की सुरक्षा को लेकर कई गंभीर सवाल उठ खड़े हुए थे. लेकिन ऐसा लग रहा है कि स्कूल की सुरक्षा को लेकर बहस-मुबाहिसों के सिवा और कुछ नहीं किया जा रहा.फिर दोहराया गया प्रद्युम्न कांड, 9वीं के बच्चे ने की जूनियर छात्र की हत्या...#बड़ी खुशखबरी: अब बिजनेस शुरू करने के लिए सरकार दे रही है 25 लाख तक का लोन

क्योंकि महाराष्ट्र के यवतमाल जिले से प्रद्युम्न हत्याकांड की तर्ज पर ही एक और मासूम की हत्या की दर्दनाक घटना सामने आई है. यवतमाल जिले में एक आश्रम स्कूल के छात्र की उसी स्कूल के एक अन्य छात्र ने पत्थर हत्या कर दी. हत्या के दो दिन बाद रविवार को स्कूल के पीछे पीड़ित छात्र का शव बरामद हुआ है, जिससे पूरे यवतमाल में हड़कंप मच गया.

यवतमाल जिले के उमरखेड़ तहसील के ढानकी गांव में स्थित संत गाडगे बाबा आश्रम स्कूल में पहली कक्षा में पढ़ने वाला प्रदीप शेलके पिछले 2 दिनों से लापता था. स्कूल प्रशासन ने उसकी गुमशुदगी की शिकायत पुलिस में की थी. शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने प्रदीप की तलाश शुरू कर दी. और दो दिन के अंदर पुलिस को प्रदीप का शव आश्रम स्कूल के पीछे फेंका मिल गया .

पुलिस ने बताया कि शव को देखकर लगता था कि उसे पत्थर से कुचलकर मारा गया है. पुलिस इसके बाद हत्या की गुत्थी सुलझाने में लग गई. मासूम की बेरहमी से की गई हत्या के विरोध में आदिवासी संगठनों ने विरोध प्रदर्शन भी किया था. पुलिस प्रशासन ने मामले कि गंभीरता को देखते हुए जांच के लिए स्पेशल टीम का गठन किया. 

पुलिस की इस स्पेशल टीम ने लापता प्रदीप के शव को तो खोज ही निकाला, वे प्रदीप के हत्यारे को भी ढूंढने में सफल रहे. पुलिस ने बताया कि उसी स्कूल में 9वीं कक्षा में पढ़ने वाले एक छात्र ने प्रदीप की हत्या की है. आरोपी छात्र ने स्कूल के स्वच्छता गृह में एक चिट्ठी रखी है और उसपर खुद की फोटो चिपकाकर हत्या करने की बात कुबूल की है.

आरोपी छात्र ने अपने इस कुबूलनामें में लिखा है कि प्रदीप उसे चिढ़ाता रहता था, जिससे दोनों के बीच अनबन रहती थी. इसी चिढ़ के चलते एक दिन वह प्रदीप को स्कूल के पीछे की झड़ियों में ले गाया. वहां उसने प्रदीप के सिर पर पत्थर से वार कर उसे घायल कर दिया और उसके बाद उसकी गला घोंटकर हत्या कर दी.

स्कूल प्रशासन ने इस मामले में प्रधानाध्यापक और पहरेदार को निलंबित कर दिया है. पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए प्रदीप के शव को यवतमाल भेज दिया है.

You May Also Like

English News