फिर से दहाड़े स्वामी, सामने रखे 21 सबूत, लेकिन पीएम मोदी के अपने भी हुए ‘जख्मी’

नई दिल्ली। बीजेपी के नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने सोमवार को पूर्व वित्तमंत्री पी चिदंबरम पर निशाना साधते हुए उनके बेटे कार्ति चिदंबरम पर गंभीर आरोप लगाए हैं। स्वामी ने एक खुलासा किया है जिसके बाद नया तूफान आना तय है।फिर से दहाड़े स्वामी, सामने रखे 21 सबूत, लेकिन पीएम मोदी के अपने भी हुए ‘जख्मी’फिर से दहाड़े स्वामी, सामने रखे 21 सबूत, लेकिन पीएम मोदी के अपने भी हुए ‘जख्मी’

सुब्रमण्यम स्वामी ने सामने रखे सबूत

सीआईए (सेंट्रल इंवेस्टीगेटिव एजेंसी) को सुब्रमण्यम स्वामी ने कार्ति के 21 गोपनीय खातों की जानकारी दी है। उन्होंने एयरसेल-मैक्सिस डील में नौकरशाही पर पूर्व वित्त मंत्री के बेटे को बचाने का भी आरोप लगाया है। स्वामी ने वित्त मंत्रालय और आयकर विभाग पर कार्रवाई नहीं करने का भी आरोप लगाया है।

सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा है कि कार्ति चिदंबरम का एक बैंक खाता यूके के मेट्रो बैंक में कई सालों से है। जिसकी जानकारी उन्होंने इनकम टैक्स को नहीं दी है।

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने कालाधन और घोटाले के खिलाफ तत्काल कदम उठाते हुए एसआईटी का गठन किया था। अभी दो साल का कार्यकाल बाकी है और हमें तुरंत कदम उठाने की जरूरत है। इसी वजह से मामले को सुप्रीम कोर्ट तक लेकर जाना पड़ा।

स्वामी के आरोपों को कार्ति ने नकार दिया है। उन्होंने ट्वीट किया ‘कुछ बेहिसाब आरोप मेरे ऊपर थोपे गए हैं. मैंने अपनी जानकारी अपडेट कर रखी है। रेग्युलेटरी की मांग के अनुसार.’

दूसरे ट्वीट में कार्ति ने लिखा ‘मेरी और मेरे परिवार की सारी संपत्ति की जानकारी आईटी में दर्ज है. कानूनन मेरी कंपनी ने सारी घोषणा कर रखी है।’

सुब्रमण्यम स्वामी ने आरोप लगाया कि 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान चुनाव आयोग में घोषणा पत्र में भी कार्ति ने विदेशी खातों को घोषित नहीं किया है। कार्ति ने सिर्फ भारत के खातों और व्यवसाय की जानकारी दी है।
 
loading...

You May Also Like

English News