फिर से हो सकता है डोकलाम विवाद, कुछ कदम पीछे हटकर अब भी डटे हैं चीनी सैनिक

भारत और चीन के बीच सिक्किम सेक्टर के डोकलाम को लेकर 73 दिनों तक चला सीमा विवाद कथित तौर पर दो सप्ताह पहले ही सुलझ चुका है, लेकिन चीनी सैनिक अभी भी वापस नहीं हटे हैं.फिर से हो सकता है डोकलाम विवाद, कुछ कदम पीछे हटकर अब भी डटे हैं चीनी सैनिकअभी-अभी: संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में मतदान से ठीक पहले नरम पड़ा अमेरिका

भारतीय सैनिक भी अभी डोकलाम पठार पर बने हुए हैं और दोनों देशों के सैनिक सिर्फ 150 मीटर की दूरी पर एक-दूसरे के सामने हैं. चीनी सैनिकों ने डोकलाम पठार के निचले हिस्से में बंकर बना रखे हैं, जिसके चलते दोनों देशों के बीच फिर से तनावपनपने का खतरा बना हुआ है.

भारतीय और चीनी सेना के बीच नाथू ला पास पर आठ सितंबर को हुई कमांडर स्तरीय बैठक में भारत ने यह मुद्दा उठाया. चार घंटे तक चली इस बैठक में भारत ने जोर देकर कहा कि जब तक चीनी सैनिक इलाके को खाली नहीं कर देते, तब तक 28 अगस्त को हुआ डिसएंगेजमेंट का समझौता पूरा नहीं होगा.

चीनी सेना ने बैठक में भारत से कहा है कि अपने सुपीरियर ऑफिसर्स से राय-मशविरा कर वे वापस हटेंगे. भारत, चीन और भूटान की तिहरी सीमा से लगे विवादित डोकलाम पठार पर अभी भी दोनों देशों के सैनिक बने हुए हैं, हालांकि उनकी संख्या की पुष्ट जानकारी नहीं है. 

चीन के शियामेन में 3-5 सितंबर के बीच हुए ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे से ठीक पहले 28 अगस्त को कूटनीतिक बातचीत के जरिए डोकलाम विवाद को सुलझा लिया गया था और दोनों देशों के बीच विवादित इलाके से अपने-अपने सैनिकों को वापस बुलाने पर सहमति बन गई थी.

You May Also Like

English News