फिलीपींस के दौरे पर रवाना हुए PM मोदी, ट्रंप सेकरेंगे मुलाकात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तीन दिन के फिलीपींस दौरे पर रविवार को रवाना हो गए हैं. इस दौरान वह 15वें आसियान और 12वें पूर्वी एशिया सम्मेलन में भाग लेंगे. व्यापार और संपर्क बढ़ाना मोदी की मुख्य प्राथमिकताओं में शामिल हैं. मोदी का यह पहला आधिकारिक फिलीपींस दौरा है.फिलीपींस के दौरे पर रवाना हुए PM मोदी, ट्रंप सेकरेंगे मुलाकातपुणे यूनिवर्सिटी का सर्कुलर- अब सिर्फ उन छात्रों को गोल्ड मैडल देगा जो होंगे शाकाहारी

दौरे पर जाने से पहले पीएम मोदी ने कहा कि फिलीपींस की उनकी प्रस्तावित यात्रा आसियान सदस्य देशों तथा भारत- प्रशांत क्षेत्र के साथ रिश्तों को मजबूत बनाने की भारत की प्रतिबद्धता का प्रतीक होगी. मोदी ने उम्मीद जताई कि मनीला की उनकी इस यात्रा से फिलीपींस के साथ भारत के द्विपक्षीय रिश्तों को भी नया बल मिलेगा. साथ ही आसियान देशों के साथ राजनीतिक सुरक्षा, आर्थिक व सामाजिक-सांस्कृतिक क्षेत्र में भारत के संबंध मजबूत होंगे.

ये है पीएम मोदी का कार्यक्रम

इस यात्रा के दौरान मोदी आसियान-भारत व पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलनों में भाग लेंगे. वे इस दौरान आसियान, क्षेत्रीय वृहद आर्थिक भागीदारी (आरसीईपी) के नेताओं की बैठक और आसियान कारोबार व निवेश शिखर सम्मेलन की 50वीं वर्षगांठ के विशेष कार्यक्रमों में भी भाग लेंगे. पीएम मोदी फिलीपींस में भारतीय समुदाय से भी मिलेंगे.

पीएम मोदी ने कहा है, ‘मेरी भागीदारी आसियान के सदस्य देशों विशेषकर एशिया प्रशांत क्षेत्र के साथ संबंधों को लगातार मजबूत बनाने की भारत की प्रतिबद्धता को परिलक्षित करता है. यह मेरी सरकार की पूर्व दिशा में काम करो की सोच के अनुरूप है.’

उन्होंने कहा है कि आसियान व्यापार व निवेश शिखर सम्मेलन से निकट सहयोग को बल मिलेगा ताकि आसियान के सदस्य देशों के साथ व्यापार संबंधों को प्रगाढ़ बनाया जा सके. जिसका भारत के कुल व्यापार में 10.85 प्रतिशत हिस्सा है. 

बता दें कि भारत और दस सदस्यीय आसियान के बीच 2015-16 में 65.04 अरब डॉलर का व्यापार हुआ जो कि भारत के कुल वैश्विक बाजार का 10.12 प्रतिशत है. आसियान के सदस्य देशों में इंडोनेशिया, मलेशिया, फिलीपींस, सिंगापुर, थाइलैंड, बरूनी, कंबोडिया, लाओस, म्यांमार व वियतनाम है.

ट्रंप से मुलाकात की संभावना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच सोमवार को आसियान शिखर सम्मेलन के मौके पर द्विपक्षीय बैठक होने की संभावना है. आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी और कहा कि मोदी और ट्रंप के बीच सोमवार को बैठक हो सकती है. अगस्त में अमेरिकी दौरे के बाद मोदी और ट्रंप की यह पहली मुलाकात होगी.

मोदी और ट्रंप अपनी बैठक में क्षेत्र के सुरक्षा परिदृश्य सहित साझा हितों के विभिन्न मुद्दों पर चर्चा कर सकते हैं. ट्रंप ने शुक्रवार को ही भारत की आर्थिक वृद्धि और प्रधानमंत्री मोदी की सराहना की थी.

You May Also Like

English News