फीके हुए होली के रंग, पड़ी महंगाई की मार, गैस के दाम में 86.50 रुपए की हुई बढ़ोत्तरी

लखनऊ। होली के त्यौहार में अब आपके पकवान फीके पड़ने वाले हैं। क्योंकि हर आम आदमी पर महंगाई की मार जमकर पड़ी है। दरअसल चुनावी पार्टियां वोट लेने के लिए भले ही जनता को बड़े-बड़े सपने दिखाती हों लेकिन अनततः सरकारें करती वही हैं जो उनका मन करता है। विरोधी दल मौजूदा सरकार पर हमेशा महंगाई बढाने का आरोप लगाया करती हैं, पर जब वो सत्ता में आती हैं तो सब मामला टांय-टांय फिस्स होता नज़र आता है।

फीके हुए होली के रंग, पड़ी महंगाई की मार, गैस के दाम में 86.50 रुपए की हुई बढ़ोत्तरी

महंगाई की मार जमकर पड़ी

एक तरफ रंगों का त्यौहार होली आ रही है तो वहीँ रंग में भंग डालते हुए महंगाई भी त्यौहार से पहले ही आ चुकी है। एनडीए सरकार के ढाई वर्ष के कार्यकाल में पहली बार रसोई गैस सिलेंडर के दाम 700 रुपये के ऊपर निकल गए हैं। मंगलवार को रेट रिवीजन के बाद घरेलू रसोई गैस सिलेंडर 86.50 रुपये महंगा होने के साथ अब 777 रुपये का हो गया है। कमर्शियल गैस सिलेंडर 149.50 रुपये और पांच किलो वाला छोटू सिलेंडर 30.50 रुपये महंगा हो गया है। 

रेट रिवीजन के बाद घरेलू गैस सिलेंडर (14.2 किलो) 777 रुपये का हो गया है। अभी तक यह उपभोक्ताओं को 691 रुपये का मिल रहा था। जबकि कमर्शियल सिलेंडर (19 किलो) के दाम 1330 रुपये से बढ़कर 1479.50 रुपये हो गया है। 5 किग्रा वाला सिलेंडर 252 के बजाय 282 रुपये में मिलेगा। हालांकि, खाते में आने वाली सब्सिडी की रकम भी 254.20 से बढ़कर 340.57 रुपये हो जाएगी। बढ़ी हुई दरें मंगलवार आधी रात से लागू हो गई हैं।

You May Also Like

English News