फीफा वर्ल्ड कप 2018: सितारों की बदौलत पहली बार खिताब जीतना चाहेगी बेल्जियम

ब्राजील में हुए 2014 फीफा वर्ल्ड कप में क्वार्टर फाइनल तक का सफर तय करने वाली बेल्जियम 14 जून से रूस में शुरू हो रहे विश्व कप में अपने स्टार खिलाड़ियों के दम पर पहली बार खिताब जीतना चाहेगी. इस बार वर्ल्ड कप में हिस्सा लेने वाली बेल्जियम की टीम को देश के फुटबाल इतिहास की सबसे बेहतरीन टीम माना जा रहा है.ब्राजील में हुए 2014 फीफा वर्ल्ड कप में क्वार्टर फाइनल तक का सफर तय करने वाली बेल्जियम 14 जून से रूस में शुरू हो रहे विश्व कप में अपने स्टार खिलाड़ियों के दम पर पहली बार खिताब जीतना चाहेगी. इस बार वर्ल्ड कप में हिस्सा लेने वाली बेल्जियम की टीम को देश के फुटबाल इतिहास की सबसे बेहतरीन टीम माना जा रहा है.   बेल्जियम अब तक 13 बार विश्व कप में भाग ले चुकी है लेकिन कभी भी उसकी टीम में इतनी संख्या में स्टार खिलाड़ियों की मौजूदगी नहीं देखी गई. यूरोप महाद्वीप में स्थित इस छोटे से देश ने पहली बार 1930 फीफा विश्व कप में हिस्सा लिया था, हालांकि टूर्नामेंट में बेल्जियम का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा और 11वें पायदान पर रही. टूर्नामेंट में कुल 13 टीमों ने भाग लिया था.   1986 विश्व कप बेल्जियम के लिए अब तक का सबसे सफल वर्ल्ड कप रहा है. मेक्सिको में हुए इस टूर्नामेंट में टीम ने शानदार प्रदर्शन किया लेकिन सेमीफाइनल में उसे अर्जेटीना के खिलाफ 0-2 से हार झेलनी पड़ी और बेल्जियम का सफर सेमीफाइनल में ही थम गया.   2014 विश्व कप में भी बेल्जियम ने बेहतरीन प्रदर्शन किया लेकिन एक बार फिर अर्जेटीना ने क्वार्टर फाइनल मुकाबले में टीम के खिताब जीतने के सपने को तोड़ दिया. हालांकि, टूर्नामेंट के दौरान बेल्जियम के प्रशंसकों को यह एहसास हो गया कि अगले वर्ल्ड कप के लिए उनकी टीम में स्टार खिलाड़ियों की कोई कमी नहीं होगी.   बेल्जियम के पास हर पोजीशन पर खेलने के लिए शीर्ष स्तरीय खिलाड़ी उपलब्ध है. गोलपोस्ट में टीम के पास थिबॉट कोरटुआ जैसा अनुभवी गोलकीपर है. कोरटुआ विश्व के टॉप गोलकीपरों में गिने जोते हैं और इंग्लैंड के क्लब चेल्सी के लिए उन्होंने लगातार अच्छा प्रदर्शन किया है.   टीम के पास है मजबूत डिफेंस   टीम की डिफेंस भी काफी मजबूत नजर आ रही है. अनुभवी डिफेंडर एवं कप्तान विंसेंट कम्पनी के अलावा बेल्जियम के पास टोबी आल्डरवाइल्ड, थॉमस मुनियर और जान वर्टोंगन जैसे खिलाड़ी जिन्हें भेद पाना विपक्षी टीम के फारवर्ड खिलाड़ियों के लिए आसान नहीं होगा.   बेल्जियम की मिडफील्ड भी दमदार है. ईडन हैजार्ड एवं केविन डी ब्रुयन पिछले चार सालों में विश्व के सबसे बेहतरीन फुटबाल खिलाड़ियों के रूप में उभरे हैं. इन दोनों के अलावा डिरेस मर्टेस, यानिक करास्को एवं एक्सेल विस्टल टूर्नामेंट में किसी भी टीम के लिए मुश्किल का सबब बन सकते है. हालांकि, कोच रोबटरे मार्टिनेज ने रादजा नाइंगगोलन को 23 सदस्यीय टीम में जगह ना देकर सबको चौंकाया जरूर है.   मिची बेतशुआई, नासेर चेडली एवं रोमेलू लुकाकू पर स्ट्राइकर की भूमिका निभाने की जिम्मेदारी होगी. बेल्जियम के शानदार फॉर्म का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि टीम ने वर्ल्ड कप से पहले क्वालीफाइंग मुकाबलों में कुल 43 गोल दागे हैं जबकि केवल छह गोल खाए हैं.   प्रतिभाशाली खिलाड़ियों की मौजूदगी के बावजूद बेल्जियम की टीम किसी बड़े टूर्नामेंट का खिताब जीतने में कामयाब नहीं हो पाई है और आगामी विश्व कप में यह टीम की सबसे बड़ी कमजोरी साबित हो सकती है.   बेल्जियम को विश्व कप के लिए इंग्लैंड, पानामा और तूनिसीया के साथ ग्रुप जी में रखा गया हैं और उसे हैरी केन के नेतृत्व वाली इंग्लैंड से कड़ी टक्कर मिल सकती है. टूर्नामेंट के अपने पहले मैच में बेल्जियम 18 जून को पनामा से भिड़ेगी.   टीम :   गोलकीपर : कोएन कैस्टेल, थिबॉट कटरेआ, साइमन मिग्नोले   डिफेंडर : टोबी आल्डरवाइल्ड, डेड्रिक बोयाटा, विंसेंट कम्पनी, थॉमस मुनियर, थॉमस वर्मालन, जन वटरेंगन   मिडफील्डर : यानिक करास्को, केविन डी ब्रुयन, मूसा डेम्बेले, लीयंडर डेंडोनकर, मारौएन फेलेनी, ईडन हैजार्ड, थोरगन हैजार्ड , अद्नान जानुजाए, डिरेस मर्टेस, यूरी टिलेमैन (मोनाको), एक्सेल विस्टल।   फारवर्ड : मिची बेतशुआई, नासेर चेडली, रोमेलू लुकाकू

बेल्जियम अब तक 13 बार विश्व कप में भाग ले चुकी है लेकिन कभी भी उसकी टीम में इतनी संख्या में स्टार खिलाड़ियों की मौजूदगी नहीं देखी गई. यूरोप महाद्वीप में स्थित इस छोटे से देश ने पहली बार 1930 फीफा विश्व कप में हिस्सा लिया था, हालांकि टूर्नामेंट में बेल्जियम का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा और 11वें पायदान पर रही. टूर्नामेंट में कुल 13 टीमों ने भाग लिया था.

1986 विश्व कप बेल्जियम के लिए अब तक का सबसे सफल वर्ल्ड कप रहा है. मेक्सिको में हुए इस टूर्नामेंट में टीम ने शानदार प्रदर्शन किया लेकिन सेमीफाइनल में उसे अर्जेटीना के खिलाफ 0-2 से हार झेलनी पड़ी और बेल्जियम का सफर सेमीफाइनल में ही थम गया.

2014 विश्व कप में भी बेल्जियम ने बेहतरीन प्रदर्शन किया लेकिन एक बार फिर अर्जेटीना ने क्वार्टर फाइनल मुकाबले में टीम के खिताब जीतने के सपने को तोड़ दिया. हालांकि, टूर्नामेंट के दौरान बेल्जियम के प्रशंसकों को यह एहसास हो गया कि अगले वर्ल्ड कप के लिए उनकी टीम में स्टार खिलाड़ियों की कोई कमी नहीं होगी.

बेल्जियम के पास हर पोजीशन पर खेलने के लिए शीर्ष स्तरीय खिलाड़ी उपलब्ध है. गोलपोस्ट में टीम के पास थिबॉट कोरटुआ जैसा अनुभवी गोलकीपर है. कोरटुआ विश्व के टॉप गोलकीपरों में गिने जोते हैं और इंग्लैंड के क्लब चेल्सी के लिए उन्होंने लगातार अच्छा प्रदर्शन किया है.

टीम के पास है मजबूत डिफेंस

टीम की डिफेंस भी काफी मजबूत नजर आ रही है. अनुभवी डिफेंडर एवं कप्तान विंसेंट कम्पनी के अलावा बेल्जियम के पास टोबी आल्डरवाइल्ड, थॉमस मुनियर और जान वर्टोंगन जैसे खिलाड़ी जिन्हें भेद पाना विपक्षी टीम के फारवर्ड खिलाड़ियों के लिए आसान नहीं होगा.

बेल्जियम की मिडफील्ड भी दमदार है. ईडन हैजार्ड एवं केविन डी ब्रुयन पिछले चार सालों में विश्व के सबसे बेहतरीन फुटबाल खिलाड़ियों के रूप में उभरे हैं. इन दोनों के अलावा डिरेस मर्टेस, यानिक करास्को एवं एक्सेल विस्टल टूर्नामेंट में किसी भी टीम के लिए मुश्किल का सबब बन सकते है. हालांकि, कोच रोबटरे मार्टिनेज ने रादजा नाइंगगोलन को 23 सदस्यीय टीम में जगह ना देकर सबको चौंकाया जरूर है.

मिची बेतशुआई, नासेर चेडली एवं रोमेलू लुकाकू पर स्ट्राइकर की भूमिका निभाने की जिम्मेदारी होगी. बेल्जियम के शानदार फॉर्म का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि टीम ने वर्ल्ड कप से पहले क्वालीफाइंग मुकाबलों में कुल 43 गोल दागे हैं जबकि केवल छह गोल खाए हैं.

प्रतिभाशाली खिलाड़ियों की मौजूदगी के बावजूद बेल्जियम की टीम किसी बड़े टूर्नामेंट का खिताब जीतने में कामयाब नहीं हो पाई है और आगामी विश्व कप में यह टीम की सबसे बड़ी कमजोरी साबित हो सकती है.

बेल्जियम को विश्व कप के लिए इंग्लैंड, पानामा और तूनिसीया के साथ ग्रुप जी में रखा गया हैं और उसे हैरी केन के नेतृत्व वाली इंग्लैंड से कड़ी टक्कर मिल सकती है. टूर्नामेंट के अपने पहले मैच में बेल्जियम 18 जून को पनामा से भिड़ेगी.

टीम :

गोलकीपर : कोएन कैस्टेल, थिबॉट कटरेआ, साइमन मिग्नोले

डिफेंडर : टोबी आल्डरवाइल्ड, डेड्रिक बोयाटा, विंसेंट कम्पनी, थॉमस मुनियर, थॉमस वर्मालन, जन वटरेंगन

मिडफील्डर : यानिक करास्को, केविन डी ब्रुयन, मूसा डेम्बेले, लीयंडर डेंडोनकर, मारौएन फेलेनी, ईडन हैजार्ड, थोरगन हैजार्ड , अद्नान जानुजाए, डिरेस मर्टेस, यूरी टिलेमैन (मोनाको), एक्सेल विस्टल।

फारवर्ड : मिची बेतशुआई, नासेर चेडली, रोमेलू लुकाकू

 

You May Also Like

English News