फेल हुई नोटबंदी? बैंकों में वापस आ गए 99% से ज्यादा पुराने नोट

भारतीय रिजर्व बैंक ने कहा है कि नोटबंदी के दौरान बंद हुए लगभग सभी पुराने नोट वापस आ चुके हैं. आरबीआई ने बुधवार को अपनी एनुअल जनरल रिपोर्ट जारी की है. इसमें उसने कहा है कि कुल 99.30 फीसदी 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट वापस आ चुके हैं.भारतीय रिजर्व बैंक ने कहा है कि नोटबंदी के दौरान बंद हुए लगभग सभी पुराने नोट वापस आ चुके हैं. आरबीआई ने बुधवार को अपनी एनुअल जनरल रिपोर्ट जारी की है. इसमें उसने कहा है कि कुल 99.30 फीसदी 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट वापस आ चुके हैं.  आरबीआई की एनुअल रिपोर्ट में इन नोटों का पूरा लेखा-जोखा दिया है. RBI एनुअल रिपोर्ट में बताया गया है,  ''स्पेसिफाइड बैंक नोट्स (SBNs) की प्रोसेसिंग का काम आरबीआई के सभी केंद्रो में पूरा हो चुका है. सर्कुलेशन से कुल 15,310.73 अरब रुपये की वैल्यू वाले पुराने नोट वापस आए हैं.''  भारतीय रिजर्व बैंक ने बताया कि 8 नवंबर, 2016 को 15,417.93 अरब रुपये की वैल्यू के 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट सर्कुलेशन में थे. इसके बाद इनमें से जितने नोट वापस आए हैं, उनकी कुल वैल्यू 15,310.73 अरब रुपये है.  इसके अलावा भारतीय रिजर्व बैंक ने अपनी एनुअल रिपोर्ट में जीएसटी को भी सफल बताया है. उसने कहा है कि जीएसटी अप्रत्यक्ष कर में पारदर्श‍ित बरतने में नींव का पत्थर साबित हुआ है.   ANI ✔ @ANI  · 3h Replying to @ANI RBI Annual Report 2017-18 states, "Domestic financial markets were broadly stable,with rallies in equity markets&intermittent corrections, hardening bond yields,the rupee trading with a generally appreciating bias except towards close of the yr&ample liquidity in money markets"   ANI ✔ @ANI RBI Annual report for the year 2017-18 states,"Implementation of GST achieved another important milestone towards an efficient indirect tax structure. On the external front, the current account deficit was comfortably financed with accretions to foreign exchange reserves."  11:31 AM - Aug 29, 2018 26 16 people are talking about this Twitter Ads info and privacy बता दें मोदी सरकार ने 8 नवंबर, 2016 को 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट बंद करने का ऐलान किया था. 8 नवंबर की रात से ये पुराने नोट बंद हो गए थे. नोटबंदी के बाद से ही लगातार आरबीआई ने नोटों की गिनती करने में लगी हुई थी.   नोटबंदी को लेकर विपक्ष लगातार मोदी सरकार पर हमलावर रहा है. मोदी सरकार ने काले धन पर वार करने के लिए नोटबंदी की घोषणा की थी.  इसको लेकर विपक्ष हमेशा हमलावर रहा. उनका कहना है कि नोटबंदी की वजह से काला धन तो वापस नहीं आया, लेक‍िन इससे आम आदमी को काफी ज्यादा दिक्कतों का सामना करना पड़ा. वहीं, सरकार हमेशा इसे सफल बताती रही है.

आरबीआई की एनुअल रिपोर्ट में इन नोटों का पूरा लेखा-जोखा दिया है. RBI एनुअल रिपोर्ट में बताया गया है,  ”स्पेसिफाइड बैंक नोट्स (SBNs) की प्रोसेसिंग का काम आरबीआई के सभी केंद्रो में पूरा हो चुका है. सर्कुलेशन से कुल 15,310.73 अरब रुपये की वैल्यू वाले पुराने नोट वापस आए हैं.”

भारतीय रिजर्व बैंक ने बताया कि 8 नवंबर, 2016 को 15,417.93 अरब रुपये की वैल्यू के 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट सर्कुलेशन में थे. इसके बाद इनमें से जितने नोट वापस आए हैं, उनकी कुल वैल्यू 15,310.73 अरब रुपये है.

इसके अलावा भारतीय रिजर्व बैंक ने अपनी एनुअल रिपोर्ट में जीएसटी को भी सफल बताया है. उसने कहा है कि जीएसटी अप्रत्यक्ष कर में पारदर्श‍ित बरतने में नींव का पत्थर साबित हुआ है.

बता दें मोदी सरकार ने 8 नवंबर, 2016 को 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट बंद करने का ऐलान किया था. 8 नवंबर की रात से ये पुराने नोट बंद हो गए थे. नोटबंदी के बाद से ही लगातार आरबीआई ने नोटों की गिनती करने में लगी हुई थी.

 नोटबंदी को लेकर विपक्ष लगातार मोदी सरकार पर हमलावर रहा है. मोदी सरकार ने काले धन पर वार करने के लिए नोटबंदी की घोषणा की थी.

इसको लेकर विपक्ष हमेशा हमलावर रहा. उनका कहना है कि नोटबंदी की वजह से काला धन तो वापस नहीं आया, लेक‍िन इससे आम आदमी को काफी ज्यादा दिक्कतों का सामना करना पड़ा. वहीं, सरकार हमेशा इसे सफल बताती रही है.

You May Also Like

English News