फ्लॉप फिल्मों के ढेर पर बैठे हैं अक्षय कुमार, बात तक करना पसंद नहीं करेंगे

अपने दो दशक से भी ज्यादा लंबे करियर में अक्षय कुमार ने दर्जनों हिट फिल्में दी हैं और कई ऐसी फिल्में की हैं जिन्होंने 100 करोड़ से ऊपर का बिजनेस किया है। अक्षय एकमात्र ऐसे बॉलीवुड हीरो हैं जिनकी साल में तीन से चार फिल्में रिलीज होती हैं। लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि इतने लंबे करियर में अक्षय कुमार ने ऐसी फिल्में भी की हैं जो ना सिर्फ फ्लॉप रहीं बल्कि खुद अक्षय भी अब उन्हें देखना नहीं चाहेंगे।

फ्लॉप फिल्मों के ढेर पर बैठे हैं अक्षय कुमार, बात तक करना पसंद नहीं करेंगे

 1991 मे अपने करियर की शुरुआत में अक्षय ने ‘सौगंध’, ‘डांसर’, ‘मिस्टर बॉन्ड’, ‘दीदार’, ‘दिल की बाजी’ और ‘वक्त हमारा है’ जैसी फिल्में कीं, लेकिन बॉक्स ऑफिस पर इन सभी फिल्मों को हश्र बहुत बुरा हुआ।
 1994 में आई फिल्म ‘जख्मी दिल’ में भी बॉक्स ऑफिस पर औंधे मुंह गिरी। इस फिल्म में अक्षय के अलावा रवि किशन और अश्विनी भावे नजर आईं। ना सिर्फ कमाई के लिहाज से बल्कि एक्टिंग के मामले में भी ये फिल्म किसी को पसंद नहीं आई। इसी साल अक्षय की तीन और फिल्में आईं, ‘इक्के पे इक्का’, ‘हम हैं बेमिसाल’ और ‘अमानत’, लेकिन वो भी बुरी तरह फ्लॉप रहीं।
 ‘तू चोर मैं सिपाही’ साल 1996 में आई थी। फिल्म में अक्षय के अलावा सैफ अली खान, तबू और प्रतिभा सिन्हा लीड रोल में थीं लेकिन ये फिल्म भी दर्शकों को पसंद नहीं आई। बॉक्स ऑफिस पर भी इसने खास कमाई नहीं की।
 फिल्म ‘मैदान-ए-जंग’ 1995 में आई थी। केसी बोकाडिया की इस फिल्म में अक्षय कुमार, करिश्मा कपूर, धर्मेंद्र, अमरीश पुरी, जया प्रदा, गुलशन ग्रोवर, कादर खान जैसे मंझे हुए सितारे थे, बावजूद इसके फिल्म का बॉक्स ऑफिस पर बुरा हश्र हुआ।
 1999 में आई फिल्म ‘संघर्ष’ में अक्षय कुमार के साथ प्रीति जिंटा और आशुतोष राणा मुख्य भूमिका में थे। फिल्म में अक्षय और प्रीति की एक्टिंग को काफी पसंद किया गया और आशुतोष को भी इस फिल्म में निभाए नेगेटिव किरदार के लिए फिल्मफेयर का बेस्ट विलेन अवॉर्ड मिला। लेकिन ये फिल्म बॉक्स ऑफिस पर अपना औसत भी नहीं निकाल पाई और फ्लॉप मानी गई।
 कुछ ऐसा ही हश्र अक्षय कुमार की और फिल्मों का हुआ, जिनमें ‘प्रिंस’ ‘दावा’, ‘रफ्तार’, ‘सजा’ और ‘बारूद’ जैसी फिल्में शामिल हैं।
 ‘मेरी बीवी का जवाब नहीं’ 1994 में आई थी। इसमें अक्षय कुमार के अपोजिट श्रीदेवी नजर आईं। हालांकि ये फिल्म 2004 में जाकर रिलीज हुई और शायद यही चीज इसके फ्लॉप होने की वजह बनी।
 अपने करियर में अक्षय ने इतनी फ्लॉप फिल्में दी हैं कि आप अंदाजा भी नहीं लगा सकते। अगर ये कहें कि अक्षय दर्जनों फ्लॉप फिल्मों के ढेर पर बैठे हैं तो गलत नहीं होगा। 2004 में आई उनकी एक और फिल्म ‘अब तुम्हारे हवाले वतन साथियो’ भी नहीं चली। इसमें अक्षय के अलावा अमिताभ बच्चन, बॉबी देओल जैसे कई सितारे थे।
 इसके बाद 2005 में आई कॉमेडी फिल्म ‘दीवाने हुए पागल’ भी बॉक्स ऑफिस पर औंधे मुंह गिरी। फिल्म में अक्षय कुमार, रिमी सेन, शाहिद कपूर, सुनील शेट्टी और परेश रावल लीड रोल में थे। फिल्म की कॉमेडी लोगों को पसंद आई लेकिन बॉक्स ऑफिस पर ये कुछ खास कमाई नहीं कर पाई।
 2009 में आई ‘8×10 तस्वीर’ भी फ्लॉप रही। फिल्म में अक्षय कुमार के साथ आयशा टाकिया अक्षय के अपोजिट नजर आईं। इसी साल आई उनकी एक और फिल्म ‘ब्लू’ का भी ऐसा ही हाल हुआ। एंथनी डिसूजा की इस फिल्म में अक्षय के साल लारा दत्ता, जाएद खान लीड रोल में थे। फिल्म ‘चांदनी चौक टू चाइना’ भी बुरी तरह फ्लॉप रही। ना तो इस फिल्म की कहानी दर्शकों को पसंद आई और ना ही अक्षय का लुक। हालांकि दीपिका पादुकोण के साथ उनकी केमेस्ट्री को काफी सराहा गया।
 2010 में आई उनकी फिल्म ‘तीस मार खां’ भी दर्शकों को रास नहीं आई और फ्लॉप हो गई। इसी साल उनकी एक और फिल्म आई ‘एक्शन रीप्ले’ और इसका जो हश्र हुआ वो सभी ने देखा। ना तो फिल्म की कहानी किसी को रास आई और ना ही अक्षय कुमार का लुक। इस फिल्म में उनका लुक दर्शकों को काफी भयानक लगा।
 2016 में सोनाक्षी सिन्हा के साथ अक्षय की फिल्म आई ‘जोकर’ जिसे फराह खान के पति शिरीष कुंदेर ने डायरेक्ट किया। लेकिन इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर पानी तक नहीं मांगा। ऐसा ही हाल उनकी कई और फिल्मों का रहा, जिनमें ‘एंटरटेनमेंट’, जानेमन’ और ‘मेरे जीवनसाथी’ जैसी फिल्में शामिल हैं।

You May Also Like

English News