बड़ी खबर: खत्म हो सकता है कतर में पैदा हुआ सकंट, कुछ असार दिखे!

दोहा: कतर और अरब देशों के बीच चल रहे मौजूदा संकट पर चर्चा करने के लिए क़तर के नेता ने सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस के साथ बातचीत की है। सऊदी की समाचार एजेंसी एसपीए के अनुसार अमीर शेख तमीम बिन हमाद अल.थानी ने कहा कि वो सऊदी और तीनों अन्य अरब देशों द्वारा जारी की गई मांगों पर चर्चा करना चाहते हैं।


सऊदी अरब, बहरीन, मिस्र और संयुक्त अरब अमीरात ने कतर पर चरमपंथ का समर्थन करने के आरोप लगाते हुए 5 जून को सभी संबंध समाप्त कर लिए थे। वहीं कतर ने इन तमाम आरोपों से इंकार करता रहा है। कतर के नेता ने सऊदी के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान से शुक्रवार को फोन पर बातचीत की।

एसपीए की रिपोर्ट के अनुसार बातचीत के दौरान कतर के अमीर ने चारों अरब देशों के साथ बैठकर बात करने की इच्छा जाहिर की है। समाचार एजेंसी ने बताया कि इस संबंध में अधिक जानकारी सऊदी अरब के बहरीन, मिस्र और यूएई के साथ हुए करार के मद्देनजर ही मिल पाएगी। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा सऊदी अरब और क़तर के नेताओं से अलग-अलग बात करने के बाद इन दोनों देश के नेताओं ने फोन पर बात की है।

व्हाइट हाउस द्वारा जारी किए गए एक बयान में बताया गया किए अमेरिकी राष्ट्रपति ने खाड़ी क्षेत्र में स्थिरता बनाए रखने और ईरान के खतरे को कम करने लिए अरब राष्ट्रों की एकता पर जोर दिया है। सऊदी अरब, बहरीन, मिस्र और यूएई ने कतर पर लगे प्रतिबंधों को हटाने के लिए कुछ शर्तें रखी हैं।

इन शर्तों में अल.जजीरा समाचार चैनल को बंद करना और इरान के साथ संबंधो को कम करना शामिल है। इन चार अरब राष्ट्रों ने अल जजीरा समाचार चैनल पर चरमपंथी को बढ़ावा देने के आरोप लगाए हैं। कतर मे चल रहे संकट को समाप्त करने की तमाम कूटनीटिक कोशिशें अभी तक कामयाब नहीं हो सकी हैं।

loading...

You May Also Like

English News