बड़ी खबर: सामने आये योगी आदित्यनाथ के यह राज, पढ़कर हो जाइएगा हैरान !

 यूपी के नव नियुक्त सीएम योगी आदित्यनाथ को अब तक देश और प्रदेश के लोग जान और पहचान गये होंगे, पर हम आप को कुछ ऐसी बातें बताने जा रहे हैं, जिनके बारे में शायद ही कोई जानता होगा। यह बात प्रदेश की जनता को जानना बहुत जरुरी है। लोगों को अपने सीएम के बारे में सब कुछ पता होना चाहिए।


योगी आदित्यनाथ अपनी कट्टर छवि के लिए जाने जाते हैं। उऩ्हें लेकर कई तरह की बातें की जाती हैं कि वो एसी कमरे में रहते हैं। लग्जरी गाडिय़ों के शौकीन हैं। निजी सुरक्षा गार्ड साथ लेकर चलते हैं। क्या वाकई ऐसा है । योगी आदित्यनाथ अब मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी हो गए हैं। उनके बारे में कहा जाता है कि वो बड़े ठाठबाट से रहते हैं। लग्जऱी गाडिय़ां और निजी सुरक्षा गाड्र्स का पूरा तामझाम है। इसी की पड़ताल करने एक निजी न्यूज़ गोरखपुर के गोरखनाथ मंदिर पहुंचाए जहां योगी आदित्यनाथ रहते हैं।
गोरखनाथ मंदिर परिसर में मौजूद इमारत के एक कमरे में योगी आदित्यनाथ का बसेरा है। इसमें पढऩे वाले बच्चों का छात्रावास भी है। उनके भंडारे का भी इंतज़ाम है। परिसर में एक जगह है जहां पर योगी आदित्यनाथ रहते हैं पूजा करते हैं और उऩकी जो सुबह की दिनचर्या है वो इसी जगह पर होती है।
योगी आदित्यनाथ परिसर में मौजूद दुर्गा मंदिर में सुबह चार बजे योगसाधना से दिन की शुरूआत करते हैं। इसके बाद परिसर में मौजूद सभी मंदिरों में पूजा करते हैं। इसके बाद वो गौशाला पहुंचते हैं, गौशाला में मौजूद सभी गायों को वो खुद प्रसाद खिलाते हैं।  गौ सेवा करने के बाद वो पूरा तालाब घूमते हैं। तालाब घूमने के बाद उसके बाद आते हैं फिर जलपान करते हैं। फिर नीचे चले जाते हैं। ंनीचे आकर योगी आदित्यनाथ जनता दरबार लगाते हैं। कुर्सी पर बैठकर आए हुए लोगों की फरियाद सुनते हैं और उन्हें दूर करने के लिए जरूरी कदम उठाते हैं।
जिस कमरे के पास जिसमें योगी आदित्यनाथ रहते हैं। योगी आदित्यनाथ का शयनकक्ष बंद मिला, क्योंकि वह उस समय लखनऊ गए हुए थे। पत्रकारों ने कमरे का मुआयना किया लेकिन वहां कोई एसी नहीं लगा था, यही नहीं पूरी इमारत में कहीं भी एसी नहीं था।
योगी आदित्यनाथ के पास एक ही फाचर्यूनर कार है। जिसका जि़क्र उन्होंने लोकसभा चुनाव में दिए अपने हलफनामे में किया है। इसी गाड़ी से वो लखनऊ सीएम पद की शपथ लेने भी आए, इसके अलावा उनके पास कोई गाड़ी नहीं है।
योगी आदित्यनाथ को पहले ही वाई श्रेणी की सुरक्षा मिली हुई है। ऐसे में निजी सुरक्षा गाड्र्स रखने की बातें महज़ झूठ हैं। प्राइवेट सिक्योरिटी सिर्फ  मंदिर परिसर की सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद रखने के लिए है।
यानि कुल मिलाकर योगी आदित्यनाथ बेहद सादे तरीके से रहते हैंए शायद इसीलिए उनके साथ यहां रहने वाले लोग कह रहे हैं कि यूपी में एक नए सूरज का उदय हुआ है।
योगी आदित्यनाथ रोज़ाना सिर्फ  तीन से चार घंटे ही सोते हैं। सुबह तीन बजे उठ जाना और रात करीब 12 बजे तक जागते रहना। इस दौरान कामों की फेहरिस्त भी बड़ी लंबी होती है। ज़ाहिर है बगैर पूरी नींद लिए ऐसी दिनचर्या बेहद मुश्किल है। कम नींद में काम चलाने और खुद को स्वस्थ रखने लिए योगी आदित्यनाथ एक बेहद खास योग करते हैं।  योगी आदित्यनाथ रोज़ाना नियम से हठ योग करते हैं। जानकारों के मुताबिक हठ योग करने वालों को तीन-साढ़े तीन घंटे की गहरी नींद भी पर्याप्त होती है। हठयोग के ज़रिए योगी आदित्यनाथ अपने आप को स्वस्थ रखते हैं और इतनी कम नींद लेने के बावजूद उनके शरीर पर इसका कोई असर नहीं पड़ता।

You May Also Like

English News