बस में थे करीब 40 लोग, सबके सामने हुई चलती बस में हत्या

आश्रम चौक पर आठवीं व दसवीं कक्षा में पढ़ने वाले स्कूली छात्रों ने चलती बस में ग्रेजुएशन कर रहे एक छात्र की चाकू घोंपकर हत्या कर दी। नाबालिग आरोपियों ने छात्र का मोबाइल चोरी कर लिया था।
बस में थे करीब 40 लोग, सबके सामने हुई चलती बस में हत्यामृतक छात्र आरोपी छात्रों के बैग की तलाशी ले रहा था, तभी उसकी गर्दन में चाकू घोंप दिया। पुलिस ने छह में से पांच छात्रों को पकड़ लिया है। छठे की तलाश की जा रही है। आरोपियों के कब्जे से मृतक का मोबाइल बरामद कर लिया गया है। मृतक अपने परिवार का इकलौता चिराग था।

दक्षिण-पूर्व जिला डीसीपी रोमिल बानिया ने बताया कि हत्या की ये वारदात आश्रम चौक पर बृहस्पतिवार दोपहर करीब साढ़े तीन बजे की है। मूलरूप से मुरादाबाद, यूपी निवासी मो. अनास यहां जाकिर नगर, न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में रहता था।

मो. अनास फरीदाबाद, हरियाणा की अल फलाह यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन (बीकॉम) कर रहा था। वह बृहस्पतिवार दोपहर को कहीं जा रहा था। इसी दौरान स्कूली छात्रों ने उसका मोबाइल निकाल लिया और भागने लगे।

छह में से पांच छात्रों को पकड़ा

मो. अनास छात्रों का पीछा करते 479 रूट की बस में चढ़ गया। बस में मो. अनास ने एक छात्र को पकड़ लिया और थप्पड़ मार दिया। इसके बाद वह उसके बैग की तलाशी लेने लगा। इस दौरान अन्य स्कूली छात्रों ने मो. अनास को पकड़ लिया।

मो. अनास जिस छात्र के बैग की तलाशी ले रहा था, उसने उसकी गर्दन में चाकू मार दिया। मो. अनास को पास में स्थित होली फैमिली अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

डीसीपी रोमिल बानिया के अनुसार, न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी थाना पुलिस हत्या का मामला दर्ज कर जांच कर रही है। पुलिस ने शुक्रवार शाम को छह में से पांच छात्रों को पकड़ लिया।

आरोपी छात्र बदरपुर स्थित सरकारी स्कूल में आठवीं व दसवीं कक्षा में पढ़ते हैं और सभी बदरपुर इलाके के रहने वाले हैं। आरोपियों ने बताया कि वह बृहस्पतिवार दोपहर को एकत्रित हुए थे और वारदात के लिए 479 की बस में चढ़ गए थे। आश्रम चौक पर इन्होंने मृतक छात्र का मोबाइल चोरी कर लिया था।

सवारियों ने नहीं की पकड़ने की कोशिश

आरोपी स्कूली छात्रों ने जिस 479 रूट की बस में हत्या की वारदात को अंजाम दिया है, उस बस में काफी सवारियां थीं, मगर किसी भी सवारी ने आरोपी छात्रों को पकड़ने की कोशिश नहीं की थी। इसका नतीजा ये हुआ कि आरोपी आसानी से बस से उतरकर भाग गए थे। पांच आरोपी बस के अगले गेट से और छठा पिछले गेट से उतरकर फरार हुआ था।

यूनिफॉर्म पहनकर वारदात करने वाला गैंग तो नहीं
जिला पुलिस अधिकारियों का ये भी कहना था कि मो. अनास की हत्या करने वाले आरोपी एक गिरोह के सदस्य हैं। गिरोह के सदस्य स्कूली यूनिफॉर्म पहनकर वारदात को अंजाम देते हैं। हालांकि सभी आरोपी नाबालिग हैं।

आरोपी छात्र बदरपुर में रहते हैं और वहीं स्थित एक सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले बताए जा रहे हैं। फिर सवाल ये उठता है कि आरोपी आश्रम चौक पर क्यों आए थे। अगर वह स्कूल छात्र हैं तो उनके बैग में चाकू कहां से आया। क्या ये चाकू बैग में रखकर स्कूल जाते थे।

 
 

You May Also Like

English News