बहन-भाई के पास से मिले 30 लाख रुपये

task-photo-00b518f2-8197-4d92-b1b2-263a5a7a6aed-765x510लखनऊ , 15 नवम्बर  । चौक के नक्खास इलाके से पुलिस ने अलीगंज इलाके की रहने वाली महिला व उसके भाई को उस वक्त पकड़ा जब वह बैग में 30 लाख रुपये लेकर जा रहे थे। महिला व उसके भाई  से इतनी बड़ी रकम बरामद होने की सूचना चौक पुलिस ने आयकर विभाग को दे दी है। फिलहाल दोनों रुपये के बारे में कोई सही जवाब पुलिस को दे दे रही है। इंस्पेक्टर चौक ने बताया कि नक्खास अकबरी गेट के पास सोमवार की रात एक कार सवार एक महिला व एक युवक पहुंचे। दोनों कार से नीचे उतरे और उनके हाथ में एक बैग था। दोनों की गतिविधियां संदिग्ध देख लोगों ने इस बात की सूचना पुलिस को दे दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने जब दोनों से पूछताछ की तो वह इधर-उधर  की बात बताने लगे। पुलिस ने जब उनके बैग को चेक किया तो बैग में 30 लाख रुपये मिले। इतनी बड़ी रकम देख पुलिस के होश उड़ गये। पुलिस दोनों को लेकर सीधे चौक कोतवाली पहुंच गयी।  पुलिस ने जब महिला व युवक से उनका नाम व पता पूछा तो उन्होंने अपना नाम अलीगंज निवासी शबीना नाज व नावेद इस्लाम बताया। दोनों ने खुद को भाई-बहन और मूल रूप से सहारनपुर का निवासी बताया।  पुलिस ने जब उससे इतने सारे रुपये के बारे में पूछा तो वह गोलमोल जवाब देने लगे। वहीं महिला कभी खुद को डाक्टर तो कभी मेडिकल अफसर बता रही है। लाखों रुपये की नकदी बरामद होने की सूचना चौक पुलिस ने आयकर विभाग को दे दी है। अब रुपये के बारे मेें आगे की छानबीन आयकर विभाग की टीम करेगी। महिला का कहना है कि किसी ने उसको फंसा है। उसका तर्क है कि किसी ने उसको रुपये बदलने के लिए दिये थे। फिलहाल महिला किसी का नाम नहीं ले रही है। चौक कोतवाली में मौजूद महिला से पुलिस जैसे ही कोई पुलिस कोई सवाल करती वैसे ही वह रोने लग रही थी। पुलिस का कहना है कि अगर महिला ने रुपये के स्रोत के बारे मेें सही जानकारी नहीं दी तो आयकर विभाग पूरे रुपये जब्त कर सकता है। 1000 व 500 के नोट बंद होने के बाद कालाधन रखने वालों ने कमीशन देकर लोगों से अपने कालधन को बदलाने का काम शुरू कर दिया है। कई लोग को दूसरे की आईडी पर अपनी रकम बदला चुके हैं और कुछ लोगों को पुराने नोट बदलने के नाम पर कमीशन तक ले रहे हैं। 500 का नोट 400 में और 1000 का नोट 900 मेंकमीशन पर बदला जा रहा है।

 
 
 
 

You May Also Like

English News