बहू ने सास की सुपारी दी, सहेली के प्रेमी से करवाई हत्‍या

जेएनएन, लुधियाना। टिब्बा रोड क्षेत्र में एक महिला ने अपनी 70 साल की हत्‍या करवा दी। उसने सास की हत्‍या के लिए अपनी सहेली के प्रेमी को सुपारी दी थी। हत्‍या करने वाले को अपनी प्रेमिका की किडनी के ऑपरेशन के लिए 40 हजार रुपये की जरूरत थी और इसके लिए उसने वृद्धा को बेरहमी से मार डाला। वारदात क्षेत्र के कंपनी बाग गली नंबर अढ़ाई में हुई। पुलिस ने हत्‍या के आरोपित व्‍यक्ति, वृद्धा की बहू और बहू की सहेली को गिरफ्तार कर लिया है।मंजीत को इस बारे में पता चला तो वह वहां पुहंचा और उसे अस्‍पताल ले गया। वहां से सुरजीत कौर को चंडीगढ़ पीजीआइ रेफर कर दिया गया। वह उसे लेकर चंडीगढ़ पीजीआइ  ले जा रहा था, लेकिन सुरजीत कौर ने रास्‍ते में दमतोड़ दिया।  कॉल डिटेल से पहुंचे हत्यारे तक  मां की मौत के बारे में मंजीत ने थाना टिब्बा पुलिस को जानकारी दी। पुलिस ने ज्योति की कॉल डिटेल खंगाली। वारदात के बाद ज्‍योति ने बरखा और राजवीर को फोन किया था। पुलिस ने जब ज्योति से सख्ती से पूछा तो उसने अपना अपराध कबूल कर लिया।

जानकारी के मुताबिक, 70 साल की सुरजीत कौर के पति गुलजार सिंह की कुछ साल पहले मौत हो गई थी। उसकी तीन बेटियां और एक बेटा मंजीत सिंह हैं। मंजीत पेशे से ड्राइवर है। वह अपनी पत्नी ज्योति व तीन बच्चों तथा मां के साथ उसी के मकान में रहता है। सुरजीत कौर ने मंजीत से कहा कि उसकी पत्‍नी ज्योति के किसी के साथ अवैध संबंध हैं। लिहाजा वह उस पर नजर रखे। इस कारण घर में कई बार विवाद हुआ। इस बात की ज्योति ने रंजिश रख ली।

पुलिस ने बताया कि करीब एक महीना पहले ज्‍याेति ने घर के सामने रहने वाली सहेली बरखा से बात की कि वह अपनी सास से परेशान है। वह उसे मरवाना चाहती है, तो बरखा ने कहा कि वह अपने प्रेमी राजवीर से बात करेगी। जब उसने राजवीर से बात की तो उसने हां कर दी। राजवीर ने ज्योति से कहा कि बरखा की किडनी में पथरी है, उसके ऑप्रेशन के लिए 40 हजार रुपये लगेंगे, अगर वह यह रकम दे दे तो वह उसका काम कर देगा।

पुलिस के अनुसार, ज्योति ने सौदा तय कर लिया और हत्या के लिए सोमवार का दिन रखा गया। सोमवार को दोपहर साढ़े 12 बजे राजवीर एक्टिवा से ज्योति के घर आया। ज्योति के तीनों बच्चे स्कूल गए थे। आरोपित राजवीर घर के अंदर घुसा और बेड पर सो रही सुरजीत कौर के चेहरे पर छेनी (पत्थर तोड़ने के लिए हथौड़े के साथ इस्तेमाल होती है) से कई वार कर दिए और उसे अधमरा छोड़कर फरार हो गया।

मंजीत को इस बारे में पता चला तो वह वहां पुहंचा और उसे अस्‍पताल ले गया। वहां से सुरजीत कौर को चंडीगढ़ पीजीआइ रेफर कर दिया गया। वह उसे लेकर चंडीगढ़ पीजीआइ  ले जा रहा था, लेकिन सुरजीत कौर ने रास्‍ते में दमतोड़ दिया।

कॉल डिटेल से पहुंचे हत्यारे तक

मां की मौत के बारे में मंजीत ने थाना टिब्बा पुलिस को जानकारी दी। पुलिस ने ज्योति की कॉल डिटेल खंगाली। वारदात के बाद ज्‍योति ने बरखा और राजवीर को फोन किया था। पुलिस ने जब ज्योति से सख्ती से पूछा तो उसने अपना अपराध कबूल कर लिया।

 
 
 
 

 
 
 
 
 
 

You May Also Like

English News