झुलसाने वाली गर्मी से बारिश ने दिलाई राहत लेकिन किसानों को हुआ भारी नुकसान

टॉस न्यूज़ ब्यूरो
लखनऊ. रविवार को प्रचंड गर्मी से काफी हद तक राहत मिली. झुलसाने वाली गर्मी के बीच उत्तर प्रदेश के कई शहरों में धूल भरी आंधी के बाद कहीं हल्की तो कहीं तेज़ बारिश हुई. असोथर, कौशाम्बी, एटा और कासगंज में ओले गिरने और करछना के डाही गाँव में बिजली गिरने की भी खबर है. कानपुर, उन्नाव और फतेहपुर में आज दोपहर बाद धूल भरी आंधी के बाद बारिश होने से मौसम ठंडा हो गया. रविवार की बारिश और ओलों ने गर्मी से तो राहत पहुंचाई है लेकिन कटने को तैयार खड़ी फसल ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है क्योंकि कई साल बाद अच्छी फसल की उम्मीद जगी है.

UP सरकार के हर फैसले का क्रेडिट सीएम योगी को न दें, पीएम मोदी…बारिश ने दिलाई राहत

देर रात में राजधानी लखनऊ में भी धूल भरी आंधी आने के बाद आसमान में धूल का गुबार छा गया. लखनऊ के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश होने के बाद गर्मी से राहत मिली है. इस साल की गर्मी का आलम यह है कि अप्रैल में ही मई-जून जैसी तपिश शुरू हो गई है. गर्मी इतनी भीषण है कि जिला प्रशासन को स्कूलों को निर्देश देने पड़े हैं कि स्कूलों को 11 बजे के बाद न चलाया जाये. आज भी पूरे दिन तपिश का माहौल रहा लेकिन दोपहर बाद मौसम में बदलाव नज़र आने लगा. शाम को तेज हवा के साथ फतेहपुर के खागा और बहुआ में बारिश हुई. असोथर और कौशाम्बी में ओले गिरने की खबर है.

यूपी एटीएस की पूछताछ में आतंकियों ने खोला सबसे बड़ा राज, ये था खतरनाक प्लान…

हरदोई में भी धूल भरी आंधी चली. इलाहाबाद में तेज आंधी के साथ बारिश हुई. करछना तहसील के डाही गांव में बिजली गिरने से 48 वर्षीय रामकरन पाल की मौत हो गई. आगरा में कल ही मौसम बदल गया था और आज भी मौसम खुशगवार रहा.  लखीमपुर के तराई इलाके में अचानक मौसम ने करवट बदली आसमान में बादल छा गए, हल्की-फुलकी बारिश भी हुई. तेज हवाओं के बीच इंडो नेपाल सीमा से सटे तमाम थारू गांवों में खूब ओले गिरे. यह ओले काफी बड़े-बड़े थे. जिससे किसानों को काफी नुकसान पहुंचा है. 

रविवार को हमीरपुर सबसे गर्म रहा. हमीरपुर का अधिकतम तापमान 44.2 डिग्री, इलाहाबाद का 43.9, बांदा का 43.4 डिग्री और उरई का 43 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. रायबरेली में छिटपुट बारिश से किसानों के चेहरे पर मायूसी छा गई. डलमऊ तहसील क्षेत्र में रुक रुक कर बूंदाबांदी जारी है. फतेहपुर तेज आंधी से जाफरगंज थाने के यमुना नदी में बाराघाट में बना पीपे के पुल के टूट गए रस्से टूटने से पीपे बह गए लेकिन बड़ा हादसा टल गया. बांदा फतेहपर को जोड़ता है पीपे का पुल बहने से यातायात बाधित हो गया है.

इसे दुरुस्त होने में तीन दिन लगेंगे. तब तक बाँदा जाने वाले लोगों को चिल्ला घाट के पुल से जाना पड़ेगा. रायबरेली में आकाशीय बिजली गिरने से लगी आग से तीन घरों के छप्पर व गृहस्थी जलकर राख हो गई.  यह डलमऊ तहसील के लूक चांदपुर की घटना है. लखीमपुर मे आंधी के साथ बारिश से बदला मौसम का मिजाज़, कई जगहों पर ओले भी गिरे, पेड़ की डाल टूटने से एक राहगीर  चुटहिल हो गया. तापमान में आई गिरावट से लोगों को राहत मिली है लेकिन फसल को नुकसान की आशंका है.

You May Also Like

English News