बालिका गृह कांड: CBI खंगाल रही ब्रजेश की कुंडली, आज मधु के परिजनों से भी हाेगी पूछताछ!

मुजफ्फरपुर के बालिका गृह में यौन हिंसा मामले की जांच कर रही सीबीआइ की टीम को जांच में कई अहम सुराग मिले हैं। धीरे-धीरे राल खुलते जा रहे हैं। सोमवार को भी सीबीआइ ने बालिका गृह में पूछताछ व जांच की। जांच टीम आज भी वहां पहुंचेगी, यह तय है।
सीबीआइ आज जेल में बंद ब्रजेश ठाकुर से पूछताछ कर सकती है। इसके पहले सीबीआइ ने ब्रजेश के परिजनों व करीबियों ने जानकारी हासलि करने की कोशिश की है। सीबीआइ आज ब्रजेश ठाकुर की राजदार मधु के परिजनों से भी पूछताछ कर सकती है। मधु अभी भूमिगत है।

इसके पहले सीबीआइ ने सोमवार को एक बार फिर बालिका गृह परिसर की जांच की। इसके बाद अधिकारियों ने वहां मौजूद लोगों से पूछताछ की। इस बार टीम ने ब्रजेश ठाकुर के आवासीय परिसर में रहनेवाले किरायेदारों से भी कई बिंदुओं पर जानकारी ली। बंद कमरे में करीब 15 मिनट तक बातचीत की। दो पड़ोसियों से भी विभिन्न बिंदुओं पर जानकारी हासिल की।
सीबीआइ को मिली अहम जानकारियां
सूत्र बताते हैं कि इस दौरान सीबीआइ को कई अहम जानकारियां मिली हैं। घटना में कइ बड़े लोगों की संलिप्‍ततता तथा विभागीय लापरवाही व मिलीभगत के नए राज खुलते दिख रहे हैं। सूत्र बताते हैं कि सीबीआइ की जांच को दिशा मिल चुकी है। 

बाल संरक्षण इकाई के कंप्यूटरों को खंगाला 

बालिका गृह से निकलकर टीम समाहरणालय स्थित समाज कल्याण विभाग की बाल संरक्षण इकाई के दफ्तर पहुंची। सेवा संकल्प व बालिका गृह से जुड़ीं फाइलों को खंगाला। सूचना पर प्रभारी सहायक निदेशक ललिता कुमारी भी पहुंचीं। अधिकारियों ने उनसे मामले की जानकारी लेनी चाही। लेकिन, उन्होंने सोमवार को ही प्रभार लेने की बात कही। इस क्रम में टीम ने कार्यालय के कर्मियों का भी परिचय लिया। इस दौरान महिला डाटा एनालिस्ट नीलम कुमारी, आउटरिच वर्कर प्रियंका कुमारी व सहायक सह आंकड़ा प्रविष्टि प्रचालक मनोज कुमार कक्ष में मौजूद थे। तीनों कर्मियों से कई बिंदुओं की जानकारी ली गई।
टीम ने विभाग के कंप्यूटरों को भी खंगाला और मनोज कुमार से कई आवश्यक कागजात उपलब्ध कराने को कहा। पूरी कार्रवाई के दौरान आउटरिच वर्कर मो. फैजान, सामुदायिक कार्यकर्ता बालेंद्र कुमार व अनुसेवी प्रकाश कुमार को जिला बाल संरक्षण इकाई कार्यालय से बाहर रखा गया। फिलहाल, टीम शहर में कैंप कर रही है।बता दें कि सीबीआइ की टीम ने फिलहाल बालिका गृह को खोलकर जांच नहीं की है। मजिस्ट्रेट की निगरानी में सीबीआइ की टीम जल्द ही बालिका गृह के कमरों को खोलकर जांच करेगी। इसके लिए प्रक्रिया पूरी की जा रही है।

You May Also Like

English News