बाल-बाल बचा एक और बड़ा रेल हादसा: प्रतापगढ़-भोपाल एक्सप्रेस की टूटी पटरी…

संवाद सहयोगी, भोगनीपुर (कानपुर देहात) : कानपुर से झांसी जा रही प्रतापगढ़-भोपाल एक्सप्रेस शनिवार मध्यरात्रि मलासा और पुखरायां के बीच दुर्घटनाग्रस्त होते बची। पटरी टूटने के कारण तेज झटके लगे तो चालक ने तुरंत इमरजेंसी ब्रेक लगा ट्रेन को रोक दिया। पटरी की अस्थायी मरम्मत करा सवा घंटे बाद ट्रेन को आगे रवाना किया गया। इस बीच ट्रैक जाम होने के कारण गरीब रथ एक्सप्रेस को मलासा व इंदौर-पटना एक्सप्रेस को पुखरायां स्टेशन पर रोका गया।बाल-बाल बचा एक और बड़ा रेल हादसा: प्रतापगढ़-भोपाल एक्सप्रेस की टूटी पटरी...अभी अभी: रेलवे स्टेशन पर मिली बम की सूचना, चारो तरफ मचा हाहाकार…

रात करीब 1.24 बजे मलासा व पुखरायां के बीच प्रतापगढ़-भोपालएक्सप्रेस जब खंभा नंबर 1296/20-22 के बीच निकल रही थी, इसी बीच एकाएक पटरी टूट गई। तेज झटके के साथ ही खड़खड़ाहट की आवाज सुन चालक सतर्क हो गया। इमरजेंसी ब्रेक लगाई, तब तक आधी ट्रेन टूटी पटरी से निकल चुकी थी। ट्रेन चालक से जानकारी मिलते ही पुखरायां स्टेशन मास्टर सुनील कुमार ने वरिष्ठ अफसरों के साथ ही मलासा स्टेशन मास्टर को भी घटना से अवगत कराया। पीडब्ल्यूआई ईश्वरदास व पवन कुमार टीमों के साथ मौके पर पहुंचे तथा पटरी की मरम्मत का काम शुरू कराया।

2.39 बजे चटकी पटरी में क्लैंप जोड़कर अस्थाई मरम्मत कर प्रतापगढ़-भोपाल एक्सप्रेस को आगे बढ़ाया गया। इसके बाद 3.05 बजे इंदौर पटना एक्सप्रेस को पुखरायां से तथा 3.20 बजे गरीब रथ को मलासा स्टेशन से आगे रवाना किया जा सका। घटना स्थल पर पहुंचे सीनियर सेक्शन इंजीनियर एसके त्रिवेदी व एईएन ज्ञानेंद्र ¨सह ने छानबीन की, पर प्राथमिक जांच में रेल लाइन क्षतिग्रस्त होने की वजह स्पष्ट नहीं हो सकी। पुखरायां स्टेशन मास्टर सुनील कुमार ने बताया कि पटरी की अस्थायी मरम्मत कराने के बाद 20 किमी के काशन पर ट्रेनों को निकाला जा रहा है।

You May Also Like

English News