बिना ‘ड्राइवर’ के 3 किमी दौड़ा ट्रेन का इंजन, ‘हमसफर’ एक्सप्रेस से टकराया

रेलवे स्टेशन पर खड़ा ट्रेन का इंजन बिना लोको पायलट के दौड़ पड़ा और करीब तीन किलोमीटर दूर स्थित दूसरे स्टेशन पर खड़ी हमसफर एक्सप्रेस से टकराकर रुक गया। गनीमत रही कि कोई बड़ा हादसा नहीं हुआ।  बिना 'ड्राइवर' के 3 किमी दौड़ा ट्रेन का इंजन, 'हमसफर' एक्सप्रेस से टकरायाअब अखिलेश की टीम तय करेंगी सपा में शिवपाल यादव का भविष्य

यह घटना राजस्थान के जोधपुर मंडल के भगत की कोठी रेलवे स्टेशन की है। यहां पर ट्रेन इंजन को तकनीकी खराबी के कारण खड़ा किया गया था। ढलान के कारण अचानक यह इंजन लुढकने लगा और फिर इसने गति पकड़ ली। उस वक्त इस इंजन में कोई लोको पायलट या अन्य स्टाफ नहीं था। 

बिना लोको पायलट के इंजन को दौड़ता देख रेलवे स्टेशन पर हड़कम्प मच गया। स्टाफ के हाथ-पांव फूल गए। वे इसे रोकने के लिए दौड़े। ट्रेक पर पत्थर डालकर इसे रोकने का प्रयास किया, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। 

बाद में यह इंजन करीब तीन किमी दूर बासनी रेलवे स्टेशन पर खड़ी हमसफर एक्सप्रेस टकरा कर अपने आप रुक गया। गौरतलब है कि हमसफर एक्सप्रेस का संचालन अभी तीन दिन पहले ही शुरू हुआ है। 

हमसफर एक्सप्रेस से टकराया तो यात्रियों को लगा झटका

बिना लोको पायलट के इंजन दौड़ने की सूचना से स्टेशन पर हड़कम्प मच गया। जिस ट्रेक पर यह इंजन दौड़ रहा था, उस पर पड़ने वाले सभी रेलवे क्रॉसिंग को अलर्ट जारी कर फाटक बंद करवा दिए गए।  

करीब तीन किलोमीटर दौड़ने के बाद यह इंजन बासनी रेलवे स्टेशन पर खड़ी हमसफर एक्सप्रेस से जा टकराया। इससे ट्रेन में बैठे यात्रियों को जबरदस्त झटका लगा और वे घबरा गए। कुछ या​यात्रियों पर उपर की बर्थ पर रखा सामान भी आ गिरा, लेकिन गनीमत रही कि बड़ा हादसा नहीं हुआ। 

रेलवे प्रशासन ने मामले की जांच के आदेश जारी कर दिए हैं। प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि कल शाम अजमेर से रतलाम के लिए रवाना हुई पैसेंजर ट्रेन में एक डेड पावर इंजन जोड़कर जोधपुर भगत की कोठी स्टेशन के लिए रवाना किया गया था। ट्रेन इस इंजन को भगत की कोठी स्टेशन पर छोड़ रवाना हो गई। इसे लॉक नहीं किया गया और ढलान के कारण यह लुढक गया। 

You May Also Like

English News