बिल्डरों को CM योगी आदित्यनाथ का अल्टीमेटम, 3 महीने में दें 50,000 घर

उत्तर प्रदेश सरकार ने नोएडा और ग्रेटर नोएडा में निवेशकों को राहत देते हुए निर्माणकर्ताओं को तीन महीने के अंदर 50 हजार मकानों पर कब्जा दिलवाने का निर्देश दिया है. ऐसा ना करने पर बिल्डरों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी.बिल्डरों को CM योगी आदित्यनाथ का अल्टीमेटम, 3 महीने में दें 50,000 घरनया फरमान: अब क्लास में यस सर की जगह बच्चों को कहना होगा जय हिंद!

मंगलवार को नगर विकास मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संबंधित बिल्डरों को निर्देश दिये हैं कि वे नोएडा तथा ग्रेटर नोएडा में अगले तीन महीने के अंदर मकान अथवा फ्लैट निर्माण का कार्य पूरा करके कब्जा दिलवाएं. बिल्डरों ने भी इस पर सहमति दी है. उन्होंने कहा अगर बिल्डर इसमें सहयोग नहीं करेंगे तो हमारे सारे विकल्प खुले हैं, हम उनके खिलाफ आर्थिक कार्रवाई के साथ आपराधिक कार्रवाई भी करेंगे.

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री का यह आदेश बिल्डरों तथा नोएडा एवं ग्रेटर नोएडा प्राधिकरणों के शीर्ष अधिकारियों और मंत्रियों के बीच हुई बैठक के बाद आया है. यह बैठक उच्चतम न्यायालय द्वारा रियल एस्टेट कम्पनी जेपी इंफ्राटेक की दिवालिया होने सम्बन्धी अर्जी पर सुनवाई के दौरान कम्पनी को खरीदारों के हितों की रक्षा के लिये दो हजार करोड़ रुपये जमा करने के आदेश के बाद बुलायी गयी थी.

मुख्यमंत्री ने मंत्रियों का एक तथ्यान्वेषी दल भी गठित किया था, जिसमें सुरेश खन्ना के अलावा सतीश महाना तथा सुरेश राणा भी शामिल हैं. इस दल को नोएडा में शिकायतकर्ता निवेशकों की मदद के रास्ते तलाशने के लिये भेजा गया था.

गत सोमवार को उच्चतम न्यायालय ने जेपी इंफ्राटेक से कहा था कि वह निवेशकों के हितों की रक्षा के लिये दो हजार करोड़ रुपये जमा कराए. कम्पनी ने अपने द्वारा लिये गये कर्ज की अदायगी नहीं कर पाने के मद्देनजर दीवालिया होने की अर्जी दी है. अनेक निवेशक इस कम्पनी की एक परियोजना में मकान के लिये धन अदा करने के बावजूद कब्जे के लिये परेशान हैं.

 
loading...

You May Also Like

English News