बिहार: उपचुनाव से दूर JDU, CM नीतीश ने बचाव में दिए ये तर्क

बिहार में 3 सीटों पर उपचुनाव होने जा रहे हैं, लेकिन राज्य में सत्तारुढ़ जनता दल (यू) के इस चुनाव में हिस्सा नहीं लेने के कारण पार्टी विपक्षी दलों के निशाने पर है. अब मुख्यमंत्री नीतिश कुमार ने पार्टी का बचाव किया है.बिहार: उपचुनाव से दूर JDU, CM नीतीश ने बचाव में दिए ये तर्क

मुख्यमंत्री नीतीश ने राज्य के उपचुनाव में जनता दल (यू) के चुनाव नहीं लड़ने पर सफाई देते हुए कहा कि हमारे किसी भी सीटिंग मेम्बर की मृत्यु नहीं हुई है, इसलिए हम इन सीटों पर चुनाव नहीं लड़ रहे.

उन्होंने कहा कि ये सीटें सीटिंग मेम्बर की मृत्यु के कारण खाली हुई हैं. जनता दल (यू) ने फैसला किया है कि इस चुनाव में हम हिस्सा नहीं लेंगे. यह स्टेट पार्टी का निर्णय हैं. एक नीतिगत फैसला है.

नीतीश कुमार (जनता दल यू) के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी हैं. उन्होंने कहा, ‘हर राजनीतिक दल को फैसला लेने का अधिकार है. जेडीयू के स्टेट यूनिट ने यही फैसला लिया तो हमने कहा कि ठीक है. स्टेट यूनिट की कोर कमेटी का फैसला है कि हमारे किसी भी सीटिंग मेम्बर की मृत्यु नहीं हुई है, इसलिए हमें भी उचित नही लगा.’ 

दूसरी ओर, पूर्व उपमुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के नेता तेजस्वी यादव ने कई ट्वीट करके सत्तारुढ़ दल की आलोचना की. उन्होंने कहा कि जनता दल (यू) हार के डर से चुनाव नहीं लड़ रही है.

बिहार में 3 सीटों पर उपचुनाव होने हैं. अररिया संसदीय सीट पर आरजेडी के सांसद तस्‍लीमुद्दीन के निधन से खाली हुआ है, तो जहानाबाद और भभुआ सीट आरजेडी और बीजेपी के विधायकों के निधन के कारण खाली हुआ है.

हालांकि 2015 के चुनाव में भभुआ से जनता दल यू ने अपना उम्मीदवार खड़ा किया था, लेकिन जीत वहां बीजेपी की हुई थी. अब दोनों दल एक साथ है तो सीटिंग होने के नाते बीजेपी भभुआ से अपना उम्मीदवार खड़ा करेगी.

You May Also Like

English News