बिहार में फिर शुरू हो गई चेहरे की सियासत, JDU को BJP ने दिया करारा जवाब

बिहार में एक बार फिर आज चेहरे की सियासत जारी रही, जिसके केंद्र में रालोसपा के उपेंद्र कुशवाहा के साथ पीएम मोदी और सीएम नीतीश कुमार रहे। इन सबके बीच राजद ने अपना पासा उपेंद्र कुशवाहा के पास फेंका है जिसे अभी तक हामी तो नहीं मिली है। लेकिन राजद नेता तेजस्वी यादव ने पूरे कॉन्फिडेंस से कहा है कि उपेंद्र कुशवाहा जल्द ही महागठबंधन में शामिल होंगे।

कांग्रेस छोड़कर जदयू में आए नेता अशोक चौधरी ने कहा कि बिहार में नीतीश कुमार के अलावा कोई और हो ही नहीं सकता। उन्होंने कहा कि एनडीए अगर नीतीश कुमार के चेहरे को बदल देती है या किसी नए चेहरे पर चुनाव लड़े तो इसका भारी नुकसान उठाना पड़ेगा।

बता दें कि रालोसपा नेता नागमणि ने कहा था कि नीतीश कुमार का नहीं हमारे नेता उपेंद्र कुशवाहा का भी बिहार में बड़ा जनाधार है और विधानसभा चुनाव में सीएम का चेहरा वही होंगे। इसके बाद से ही जदयू नेताओं में हलचल देखी जा रही है। 

उधर, इन बातों का भाजपा नेता और राज्य के कृषि मंत्री प्रेम कुमार ने करारा जवाब देते हुए कहा है कि बिहार में चुनावी चेहरा पीएम मोदी ही रहेंगे, कोई कितनी भी जोर-आजमाईश कर ले।

इससे पहले सोमवार को लोकसंवाद की बैठक के बाद सीएम नीतीश कुमार ने भी कहा था कि एनडीए में चेहरे या सीट शेयरिंग को लेकर कोई विवाद नहीं है। साथ ही उन्होंने ये भी कहा था कि चुनाव की बातें चुनाव के समय की जाएंगी। 

You May Also Like

English News