बिहार में वज्रपात से छह लोगों की मौत, तीन बुरी तरह झुलसे

बिहार के दो जिलों मेें आज वज्रपात से छह लोगों की मौत हो गई और तीन लोग घायल हो गए। पहली घटना मुंगेर जिले की है जहां शनिवार के दिन खेत में काम करे चार लोगों की वज्रपात से मौत हो गई तो वहीं बांका जिले में भी दो लोगों की वज्रपात से मौत की खबर हैबिहार के दो जिलों मेें आज वज्रपात से छह लोगों की मौत हो गई और तीन लोग घायल हो गए। पहली घटना मुंगेर जिले की है जहां शनिवार के दिन खेत में काम करे चार लोगों की वज्रपात से मौत हो गई तो वहीं बांका जिले में भी दो लोगों की वज्रपात से मौत की खबर है।   पहली घटना मुंगेर जिले के खड़गपुर थाना क्षेत्र के बरुई गांव की है। मिली जानकारी के मुताबिक हादसा उस वक्त हुआ जब गांव के लोग धान की रोपनी करने के लिये खेतों में गये थे। इसी दौरान बारिश हुई और बिजली गिरी जिससे खेत में ही चार लोगों की मौत हो गई वहीं घटना में तीन महिलाएं बुरी तरह झुलस गईं हैं।   सभी मृतक एक ही गांव के बताया जा रहे हैं। मृतकों में मां-बेटा भी शामिल हैं। सभी मृतक खेत में धान की रोपनी का काम कर रहे थे। घायल महिलाओं का इलाज खड़गपुर पीएचसी में चल रहा है। मृतकों में 40 वर्षीय फूलन देवी और पुत्र सिंटू कुमार (19 वर्षीय ), गोबड्डा पंचायत निवासी कपिल बिंद दरियापुर-एक पंचायत निवासी गणेश यादव भी शामिल हैं।   बिहार में मौसम का कहर: वज्रपात ने ले ली 21 लोगों की जान, 22 घायल यह भी पढ़ें इस घटना में तीन अन्य महिला सुलेखा देवी, सुलो देवी और शीला कुमारी गंभीर रूप से घायल हो गये हैं, जिनका इलाज खड़गपुर प्रथामिकी स्वास्थ केंद्र खड्गपुर में चल रहा है।   घटना की जानकरी  मिलते ही खड़गपुर अनुमंडल पदाधिकारी संजीव कुमार मौके. उप विकास आयुक्त रामेश्वर पांडेय ने कहा कि मृतकों के परिजनों को आपदा प्रबंधन द्वारा चार -चार लाख रुपया का मुआवजा दिया जाएगा।बिजली गिरने की घटना के बाद इलाके में अफरातफरी मच गई

पहली घटना मुंगेर जिले के खड़गपुर थाना क्षेत्र के बरुई गांव की है। मिली जानकारी के मुताबिक हादसा उस वक्त हुआ जब गांव के लोग धान की रोपनी करने के लिये खेतों में गये थे। इसी दौरान बारिश हुई और बिजली गिरी जिससे खेत में ही चार लोगों की मौत हो गई वहीं घटना में तीन महिलाएं बुरी तरह झुलस गईं हैं। 

सभी मृतक एक ही गांव के बताया जा रहे हैं। मृतकों में मां-बेटा भी शामिल हैं। सभी मृतक खेत में धान की रोपनी का काम कर रहे थे। घायल महिलाओं का इलाज खड़गपुर पीएचसी में चल रहा है। मृतकों में 40 वर्षीय फूलन देवी और पुत्र सिंटू कुमार (19 वर्षीय ), गोबड्डा पंचायत निवासी कपिल बिंद दरियापुर-एक पंचायत निवासी गणेश यादव भी शामिल हैं।

इस घटना में तीन अन्य महिला सुलेखा देवी, सुलो देवी और शीला कुमारी गंभीर रूप से घायल हो गये हैं, जिनका इलाज खड़गपुर प्रथामिकी स्वास्थ केंद्र खड्गपुर में चल रहा है। 

घटना की जानकरी  मिलते ही खड़गपुर अनुमंडल पदाधिकारी संजीव कुमार मौके. उप विकास आयुक्त रामेश्वर पांडेय ने कहा कि मृतकों के परिजनों को आपदा प्रबंधन द्वारा चार -चार लाख रुपया का मुआवजा दिया जाएगा।बिजली गिरने की घटना के बाद इलाके में अफरातफरी मच गई

You May Also Like

English News