BJP की पाठशाला, मोदी सरकार के गुणगान के दिए जाएंगे टिप्स

मोदी सरकार के तीन साल पूरा होने के मौके पर बीजेपी देश भर के पार्टी प्रवक्ताओं के लिए पाठशाला लगा रही है. बीजेपी की इस पाठशाला में मोदी सरकार के तीन साल के कामकाज और उपलब्धियों को बारीकी से जनता के बीच रखने के गुर सिखाए जाएंगे.

BJP की पाठशाला, मोदी सरकार के गुणगान के दिए जाएंगे टिप्स

रविवार को दिल्ली के बीजेपी मुख्यालय में दोपहर बाद पार्टी अध्यक्ष अमित शाह अपने प्रवक्ताओं और मीडिया प्रभारी को संबोधित करने वाले हैं. इस बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता और मीडिया प्रभारी के अलावा देश भर के अलग-अलग राज्यों के प्रवक्ता और मीडिया प्रभारी शिरकत करेंगे.

अमित शाह के अलावा केंद्रीय उर्जा मंत्री पीयूष गोयल और संगठन महामंत्री रामलाल भी इस मौके पर बीजेपी प्रवक्ताओं को मीडिया में अपनी बात रखने को लेकर टिप्स देंगे.

विपक्ष से बचाव की होगी तैयारी

दरअसल, मोदी सरकार शुरू से ही इस बात पर जोर देती रही है कि सरकार की योजनाओं की जानकारी और उससे होने वाले फायदे को जनता तक पहुंचाया जाए. इसीलिए बीजेपी ने अपने संगठन के निचले स्तर भी सबको इस काम में लगाने का फैसला किया है. यहां तक कि प्रधानमंत्री मोदी की तरफ से हर बार अपने सांसदों को भी हिदायत दी जाती रही है कि सरकार के कामकाज की जानकारी अपने संसदीय क्षेत्र में लोगों तक पहुंचाएं.

बीजेपी ने सरकार के तीन साल पूरा होने के मौके पर 26 मई से 15 जून तक  मोदी फेस्टविल मनाने का फैसला किया है. इससे पहले देश भर के प्रवक्ताओं को विपक्ष के हमले का बचाव कर सरकार की वाहवाही करने की ट्रेनिंग दी जा रही है.

केंद्र में बीजेपी सरकार के 3 साल पूरा होने पर  बीजेपी ने अपने नेताओं, मंत्रियों और मुख्यमंत्रियों के जरिए भी पूरे देश में जाने की तैयारी कर ली है. पार्टी अध्यक्ष अमित शाह समेत बीजेपी के मंत्री और बीजेपी के सीएम देश के अलग अलग हिस्सों में तीन साल के जश्न में शरीक होंगे.

गुवाहाटी की रैली से होगी शुरूआत

मोदी फेस्टिवल के दौरान सरकार के काम के हिसाब देने की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 26 मई को गुवाहाटी में होने वाली रैली के जरिए होगी.

इसके साथ ही केद्र सरकार के सभी मंत्री , बीजेपी के सीएम और पार्टी पदाधिकारी भी देश भर में होने वाले जश्न में शिरकत करेंगे.

बीजेपी की तरफ से तय कर्यक्रम के मुताबिक मोदी फेस्टिवल के दौरान बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह दिल्ली, रायपुर, ईटानगर ,पोर्ट ब्लेयर, गंगटोक और त्रिवेंद्रम में मीटिंग , प्रेस कांफ्रेस और रैली करके मोदी सरकार के कामों का बखान करेंगे. जबकि, गृह मंत्री राजनाथ सिंह मुम्बई और जयपुर में सरकार की उपलब्धियों को जनता के बीच रखेंगे. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज दिल्ली और लखनऊ, तो वेंकैया नायडु भुवनेश्वर और छत्तीसगढ़ में किसी जगह पर जाएंगे.

बीजेपी के कार्यक्रम के मुताबिक, वित्त मंत्री अरुण जेटली बेंगलुरु और अहमदाबाद में, जबकि सड़क और परिवहन मंत्री नितिन गडकरी चेन्नई और रांची में प्रेस कांफ्रेस और रैली के जरिए सरकार की योजनाओं को जनता के बीच लेकर जाएंगे. इसके अलावा सभी केंद्रीय मंत्री कम से कम दो राज्यों में जाकर मोदी सरकार के तीन साल के कामकाज का ब्यौरा रखेंगे.

राज्यों में मुख्यमंत्रियों की मुस्तैदी

बीजेपी के मुख्यमंत्रियों को भी गैर-बीजेपी शासित राज्यो में सभाओं और रैलियां करने के लिए लगाया गया है. यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बिहार की राजधानी पटना में मोदी सरकार के कामों को गिनाने के साथ ही लालू परिवार के भ्रष्टाचार के खिलाफ भी बोलते नजर आएंगे. बीजेपी  योगी के प्रभाव का फायदा पड़ोसी राज्य बिहार में उठाना चाहती है.

उधर,यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य बिहार के ही नालंदा में और दूसरे उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा तमिलनाडु जाकर सरकार के काम की जानकारी जनता को देंगे.

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे शिमला, झारखड के मुख्यमंत्र रघुवर दास दुर्गापुर, छत्तीसतगढ़ के मुख्यमंत्री  रमन सिंह आसनसोल,  मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कटक और  महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फणनवीस कोच्चि जाकर मोदी सरकार की उपलब्धियां गिनाने के साथ-साथ राज्यसरकारों को निशाने पर लेंगे.

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर विजयवाडा में सरकार के कामों को जनता के बीच ले जाने की जिम्मेदारी है.

You May Also Like

English News