बीवी से जी भरकर गालियाँ खाने के बाद पीड़ित पति पहुंचा कोर्ट में, बोला” मुझे इंसाफ चाहिए”

हैदराबाद: पति और पत्नी का रिश्ता काफी नटखट होता है. ऐसे में दोनों के बीच रूठना और मनाना तो चलता ही रहता है. बीवियों को लेकर दुनिया में कईं चुटकुले बनाये गये हैं. कुछ लोगों के अनुसार जो इंसान किसी से नहीं डरता, वह केवल अपनी बीवी के बेलन से ही डरता है. बीवियों का डर पतियों में भूतनी से भी कहीं गुणा अधिक है. कुछ पति तो मजाक में अपनी पत्नी की तुलना किसी “डायन” या “चुड़ैल” से करते हैं. बहरहाल, बीवियां सच में इतनी भयानक होती है या नहीं, ये तो कोई पति ही बता सकता है.

एक ऐसा ही पति पत्नी का मामला हाल ही में हमारे सामने आया है. जहाँ एक पति ने अपनी पत्नी से तंग आकर उसके खिलाफ कोर्ट में केस दाखिल कर दिया है. युवक का कहना है कि उसकी पत्नी उसको रात दिन गालियाँ देती थी और प्रताड़ित करती थी. इसलिए आखिरकार उसने आदालत का दरवाज़ा खटखटाया है. पीड़ित पति ने अदालत में गुहार लगाई है कि उसको उसकी पत्नी से गालियों का मुआवजा चाहिए. जानकारी के अनुसार ये केस पति ने हैदराबाद के विजयवाड़ा की एक आदालत में दर्ज़ करवाया है. जिसके बाद कोर्ट ने उसकी पत्नी के खिलाफ नोटिस जारी कर दिया है.

हैदराबाद के रहने वाले कुमार के अनुसार उसकी शादी बीते साल यानि 2017 को चैतन्या से हुई थी. शादी के कुछ दिन तक सब ठीक चलता रहा लेकिन धीरे धीरे उसकी पत्नी की गालियाँ बढने लग गई. जिसके बाद दोनों में मन मुटाव पैदा हो गया. कुमार के अनुसार चैतन्या उसको हर छोटी से छोटी बात पर गालियाँ देकर प्रताड़ित करती थी. इसलिए रोज़ रोज़ की इस अनबन से वह तंग आ गया था. जिसके बाद कुमार ने कोर्ट में घरेलू हिंसा की धरा 12 के तहत मुआवज़े की मांग की है.

वहीँ कोर्ट में कुमार ने जज को बताया कि उसकी पत्नी उसको रात दिन और बिना वजह गालियाँ देती रहती है जिसके चलते वह दिनों दिन मानसिक तनाव का शिकार हो रहा है. अपने मानसिक हिंसा के चलते अब कुमार ने अदालत में पत्नी को सज़ा के तौर पर मुआवजा भरने की मांग की है. केवल इतना ही नहीं बल्कि कुमार ने कोर्ट से दरख्वास्त की है कि उसकी पत्नी की गलियां से आदालत उसका संरक्षण करे.  कुमार के अनुसार अगर उसकी पत्नी की गालियों पर रोक नहीं लगाई गई तो वह बहुत जल्द पागल हो जायेगा.

इस अजीबो गरीब मामले की अगली पेशी की तारिख अदालत ने 20 फरवरी तय की है. पति का अपनी ही पत्नी के खिलाफ प्रताड़ना का शायद ये भारत देश का पहला केस है. अब देखना ये है कि इस पति को मुआवजा दिलाने में सरकार उसकी मदद कर पाएगी या नही. ये केस उन पत्नियों के लिए एक सीख है जो बेवजह अपने पतियों को बात बात पर सुनाती रहती हैं. अगर आप भी ऐसी ही पत्नी हैं तो अभी से सावधान हो जाईये. कहीं आपका पति भी आपसे मुआवज़े की मांग ना कर दे.

You May Also Like

English News