बुजुर्गों के लिए दिल्ली सेफ नहीं, 72 साल की महिला की गला रेतकर की गई हत्या

गणतंत्र दिवस पर जब लाल किले के चारों ओर सुरक्षा का घेरा सबसे चाक चौबंद था, कुछ ही किलोमीटर दूर राजधानी के शालीमार बाग इलाके में घर में अकेली रह रही 72 वर्षीय बुजुर्ग महिला अपने घर के अंदर ही सुरक्षित नहीं थी. किसी ने उनकी गला रेत कर हत्या कर दी. पूरी वारदात CCTV में कैद हो गई है.बुजुर्गों के लिए दिल्ली सेफ नहीं, 72 साल की महिला की गला रेतकर की गई हत्या

Big News: इस मशहूर एक्ट्रेस का निधन, शोक की लहर!

पुलिस के मुताबिक, घर में प्लंबर का काम करने आए व्यक्ति पर बुजुर्ग महिला की हत्या का शक है. फिलहाल पुलिस शव को कब्जे में लेकर जांच में जुट गई है. जिले की डीसीपी भी मौके पर पहुंचीं और वारदात का जायज़ा लिया. पुलिस ने बताया कि बुजुर्ग महिला के दो बेटे हैं, हालांकि वह घर में अकेली रहती थीं.

मृतका के पति की कुछ साल पहले मौत हो चुकी है और दोनों बेटों और एक बेटी की शादी हो चुकी है. दोनों बेटे अपने-अपने परिवार के साथ पास ही अलग अलग रहते हैं. शुक्रवार को छुट्टी होने के कारण मृतका का पोता उनसे मिलने आया था. लेकिन घर का मेन गेट अंदर से लॉक था और जब काफी देर तक दरवाजा नहीं खुला तो वह पिछले दरवाजे से जैसे ही अंदर गया उसके होश उड़ गए.

घर के अंदर महिला खून से लथपथ पड़ी थी और सारा सामान बिखरा हुआ था. साथ ही अलमारी में रखे जेवर और नकदी भी गायब थे. मृतका के बेटे ने पुलिस को सूचना दी. स्थानीय लोगों ने भी मोटर की मरम्मत करने आए प्लंबर पर ही हत्या और लूट का शक जाहिर किया है. 

आस पड़ोस के लोगों का कहना है कि एक व्यक्ति लगातार कुछ दिन से आ रहा था और घटना वाले दिन शाम को भी वह आया था और ऊपर पानी की टंकी ठीक करने भी गया था. पुलिस ने घर के पीछे की तरफ गली में लगी सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगाली तो उसमें एक संदिग्ध की तस्वीरें दिखाई दी हैं.

पड़ोसी चश्मदीद ने भी फुटेज देख तस्दीक की है कि फुटेज में दिख रहा शख्स ही मृतका के घर आया था. महिला के राजेश और संजय नाम के दो बेटे हैं जो कुछ दूरी पर ही अपने अपने परिवार के साथ रहते हैं. सूत्रों के अनुसार बड़े बेटे ने यह माना है कि उन्होंने अपने एक जानकार प्लंबर को पानी का मोटर ठीक करने के लिए भेजा था.

You May Also Like

English News