बुरहान के बाद हिजबुल की कमान संभालने वाला सबजार ढेर, मारे गए 8 आतंकी

भारतीय सेना के जवानों ने शनिवार को घाटी में आतंकियों के खिलाफ दो बड़ी कार्रवाई करते हुए आठ आतंकियों को ढेर कर दिया। पहली कार्रवाई सेना द्वारा बारामुला जिले से लगती एलओसी के रामपुर सेक्टर में की गई, यहां घुसपैठ कर रहे छह आतंकियों को सतर्क जवानों ने मार गिराया।बुरहान के बाद हिजबुल की कमान संभालने वाला सबजार ढेर, मारे गए 8 आतंकी

यह भी पढ़े: अभी-अभी: CM योगी के इस बड़े धमाकेदार फैसले, से हिल गया पूरा यूपी…

वहीं दूसरी कार्रवाई दक्षिणी कश्मीर के त्राल इलाके में हुई। त्राल में बीती रात से चल रही मुठभेड़ में सेना ने हिजबुल के टॉप कमांडर सबजार अहमद समेत दो आतंकियों को मार गिराया है। सबजार हिजबुल के पोस्टर बॉय बुरहान वानी का करीबी था। बुरहान के मारे जाने के बाद सबजार दक्षिणी कश्मीर में काफी सक्रिय था। सबजार के अन्य साथियों के साथ सेना की मुठभेड़ अभी जारी है।

जानकारी के मुताबिक एलओसी के रामपुर सेक्टर में कुछ आतंकियों का दल घुसपैठ कर रहा था, इसी दौरान वहां तैनात जवानों ने उनको ललकारा। जिस पर आतंकियों ने गोलीबारी शुरू कर दी। आतंकियों को मुंहतोड़ जवाब देते हुए सेना ने छह आतंकियों को ढेर कर दिया। मारे गए आतंकियों से चार एके राइफल और एक पिस्टल बरामद हुई है। इलाके में कुछ अन्य आतंकियों के छिपे होने की आशंका जताई जा रही है। 
गौरतलब है कि शुक्रवार को एलओसी के उड़ी सेक्टर में पाकिस्तान ने बैट हमला किया था। सेना ने इस हमले को नाकाम करते हुए दो आतंकियों को ढेर कर दिया था।
सैकड़ों की संख्या में युवा सेना पर कर रहे पत्थरबाजी
दक्षिणी कश्मीर के त्राल इलाके में शुक्रवार रात आतंकियों ने सेना की पेट्रोलिंग पार्टी का निशाना बनाते हुए हमला किया। इस हमले के बाद आतंकियों और सेना में मुठभेड़ जारी है।
सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक शुक्रवार शाम आतंकियों ने सेना की पेट्रोलिंग पार्टी को निशाना बना कर गोलीबारी की। इस दौरान सतर्क जवानों ने आतंकियों को मुंहतोड़ जवाब दिया और उन्हें एक घर में घेर लिया। आतंकियों से मुठभेड़ जारी है। सूत्रों के मुताबिक मुठभेड़़ में हिजबुल के टॉप कमांडर सबजार अहमद समेत दो आतंकी ढेर हुए हैं। जबकि अभी दो से तीन आतंकी इलाके में छिपे हुए हैं।

वहीं मुठभेड़ की खबर मिलते ही सैकड़ों की संख्या में युवा आतंकियों की मदद के लिए पत्थरबाजी कर रहे हैं। इलाके में सुरक्षाबलों की अतिरिक्त टुकड़ी को भी तैनात किया जा रहा है ताकि आतंकी फरार नहीं हो सकें।

You May Also Like

English News