बुराड़ी कांड में पुलिस ने किये अब ये खुलासे

बुराड़ी कांड का रहस्य कायम है और रोज मामले में नई नई बातें सामने आ रही है. 11 लोगों के एक साथ फांसी पर लटकने की मिस्ट्री अभी तक सुलझी नहीं है. पुलिस की जांच कहती है कि बुराड़ी भाटिया परिवार के साथ जो कुछ भी हुआ उसकी जिमेदारी किसी बहरी व्यक्ति कि नहीं है. पुलिस ने किसी तरह की कोई बाहरी साजिश से इंकार किया है. बुराड़ी कांड का रहस्य कायम है और रोज मामले में नई नई बातें सामने आ रही है. 11 लोगों के एक साथ फांसी पर लटकने की मिस्ट्री अभी तक सुलझी नहीं है. पुलिस की जांच कहती है कि बुराड़ी भाटिया परिवार के साथ जो कुछ भी हुआ उसकी जिमेदारी किसी बहरी व्यक्ति कि नहीं है. पुलिस ने किसी तरह की कोई बाहरी साजिश से इंकार किया है.     मृतकों में से एक प्रियंका भाटिया के मंगेतर ने बताया कि उन्हें परिवार के किसी भी रीति- रिवाज में शामिल होने के बारे में नहीं पता. पुलिस के सूत्रों ने अनुसार, कॉल रिकॉर्ड, सीसीटीवी, इंटरनेट रिकार्ड और मामले से जुडे सभी लोगों से पूछताछ में कुछ हाथ नहीं लगा जिस पर शक किया जा सके.    जांच के बिनाह पर किसी की गिरफ्तारी की कोई संभावना नहीं है. किसी बाबा या तांत्रिक का रोल होने का भी कोई चांस नहीं है. पुलिस के अनुसार यह सामूहिक आत्महत्या का मामला है. पुलिस रिपोर्ट के मुताबिक, मौत की वजह एंटी मार्टम हैंगिंग आई थी. शरीर में किसी तरह का जहर नहीं मिला. किसी तरह के संघर्ष के निशान नहीं है. वहीं पुलिस को प्रियंका की पर्सनल डायरी जो करीब 8-10 साल पुरानी है.

मृतकों में से एक प्रियंका भाटिया के मंगेतर ने बताया कि उन्हें परिवार के किसी भी रीति- रिवाज में शामिल होने के बारे में नहीं पता. पुलिस के सूत्रों ने अनुसार, कॉल रिकॉर्ड, सीसीटीवी, इंटरनेट रिकार्ड और मामले से जुडे सभी लोगों से पूछताछ में कुछ हाथ नहीं लगा जिस पर शक किया जा सके.

जांच के बिनाह पर किसी की गिरफ्तारी की कोई संभावना नहीं है. किसी बाबा या तांत्रिक का रोल होने का भी कोई चांस नहीं है. पुलिस के अनुसार यह सामूहिक आत्महत्या का मामला है. पुलिस रिपोर्ट के मुताबिक, मौत की वजह एंटी मार्टम हैंगिंग आई थी. शरीर में किसी तरह का जहर नहीं मिला. किसी तरह के संघर्ष के निशान नहीं है. वहीं पुलिस को प्रियंका की पर्सनल डायरी जो करीब 8-10 साल पुरानी है. 

You May Also Like

English News