बेनामी केस में छोड़ने पर लालू ने BJP को दिया था सरकार बनाने का ऑफर, जानिए क्या था मोदी का जवाब!

नई दिल्ली: बीजेपी नेता और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने आरजेडी चीफ लालू प्रसाद यादव को पोल खोल दी है। एक अंग्रेजी अखबार को दिए इंटरव्यू में सुशील मोदी ने खुलासा किया है कि, लालू ने बेनामी संपत्ति मामले में मदद करने को बदले बिहार में नीतीश सरकार को गिराकर बीजेपी कि सरकार बनवाने में मदद करने का ऑफर दिया था। सुशील मोदी के मुताबिक, लालू प्रसाद यादव के कुछ सहयोगी बीजेपी के बड़े नेताओं से मिले और बेनामी संपत्ति मामले में निपटने में लालू यादव का सहयोग करने के बदले नीतीश सरकार गिराने में मदद करने का ऑफर दिया था। 

बेनामी केस में छोड़ने पर लालू ने BJP को दिया था सरकार बनाने का ऑफर, जानिए क्या था मोदी का जवाब!

बिहार में 17 महीने के बाद महागठबंधन का हाल बेहाल :

इंटरव्यू के दौरान सुशील मोदी ने वर्तमान में महागठबंधन के हालात पर पूछे गए सवाल के जवाब में कहा कि, नीतीश कुमार-लालू प्रसाद का गठबंधन पहले ही दिन से मुश्किल में रहा है। दोनों के बीच कोई मेल नहीं है। दोनों में ना तो अच्छी केमिस्ट्री है, न सोच एक  है। बिहार सरकार अब तक आपसी झगड़े की वजह से किसी बोर्ड या कमीशन का गठन नहीं कर पाया है।

 

हमें नीतीश का काम करने का तरीका पता है, वो लालू के साथ कभी सहज नहीं हो सकते। नीतीश खुलेतौर पर पीएम नरेंद्र मोदी के पाकिस्तान दौरे, सर्जिकल स्ट्राइक, नोटबंदी जैसे बड़े कदमों का समर्थन करते रहे हैं। अब उन्होंने बीजेपी के राष्ट्रपति उम्मीदवार रामनाथ कोविंद का भी समर्थन कर दिया है।

लागू को बख्शने मूड़ में नही है बीजेपी :

लालू की कर विभाग के अधिकारियों ने चार प्रॉपर्टियों को कब्जे में कर रखा है, इनमें से तीन प्रॉपर्टी लालू के बेटे तेजस्वी की हैं। कर विभाग कि ओर से जल्द ही तेजस्वी को अपनी संपत्ति का विवरण देना का नोटिस मिल सकता है। जिसके कारण उन्हें उपमुख्यमंत्री के तौर पर कर विभाग के सामने हाजिर होना पड़ेगा। इससे हालात ऐसे बनेंगे कि या तो वे इस्तीफा दें देंगे या नीतीश कुमार उन्हें बर्खास्त करने के लिए मजबूर हो जाएंगे।

बीजेपी में दुबारा शामिल होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि, 2019 में नीतीश के प्रधानमंत्री उम्मीदवार बनने की संभावना तो है लेकिन उन्हें अपनी सीमाएं पता हैं। नीतीश ने खुद ही कहा था कि वह पीएम पद की दौड़ में नहीं हैं। यूपी चुनाव लड़ने के लिए जेडी (यू) को एक भी सीट नहीं देकर कांग्रेस ने पहले ही झटका दे दिया है।

 

You May Also Like

English News