बॉबी देओल का छलका दर्द, ‘करीना धोखा न देतीं तो हालात कुछ और होते’

आप सभी को इम्तियाज अली की सुपरहिट फिल्म ‘जब वी मेट’ तो याद होगी ही जिसमें करीना कपूर और शाहिद कपूर की जबरदस्त केमेस्ट्री ने धमाल मचा दिया था। लेकिन शायद ही कोई जानता हो कि इस फिल्म के लिए शाहिद पहली पसंद नहीं थे और ये रोल बॉबी देओल करने वाले थे।

बॉबी देओल का छलका दर्द, 'करीना धोखा न देतीं तो हालात कुछ और होते'

इसका खुलासा खुद बॉबी देओल ने मिडे-डे को दिए एक इंटरव्यू में किया। उन्होंने कहा, ‘ मैं भी ‘जब वी मैट’ करना चाहता था। तब इस फिल्म का नाम ‘गीत’ रखा गया था। मैंने इम्तियाज अली की फिल्म ‘सोचा ना था’ देखी थी और इम्तियाज का फैन बन गया था। तुरंत मैं इम्तियाज अली से मिलने पहुंचा और बताया कि मैं उनके साथ ये फिल्म करना चाहता हूं।’

इसके बाद बॉबी देओल ने उस प्रोडक्शन हाउस से भी बात की जो उस वक्त ये फिल्म बनाने जा रहा था। लेकिन उस प्रोडक्शन हाउस ने इम्तियाज और उनकी फिल्म में दिलचस्पी नहीं दिखाई और फिर करीना ने भी ये फिल्म करने से मना कर दिया। लेकिन हद तो तब हो गई जब एक दिन बॉबी देओल को अचानक ही पता चला कि उसी प्रोडक्शन हाउस ने इम्तियाज के साथ उस फिल्म को बनाने के लिए हां कह दी है और इसके लिए करीना और शाहिद को साइन किया गया है।

बॉबी देओल ने खुद को ठगा सा महसूस किया। उनके मुताबिक, करीना ने फिल्म में अपने ब्वॉयफ्रेंड शाहिद कपूर को लेने के लिए फिल्म की टीम से कहा और उन्हें साइन कर लिया गया। इससे साफ है कि या तो इम्तियाज बॉबी देओल के साथ काम नहीं करना चाहते थे या फिर करीना ही।

क्या सोमरस चख कर आई हैं ये हीरोइनें? उम्र ढली पर जवान हीरोइनों को देती हैं मात

बॉबी देओल की मानें तो इम्तियाज अली ने अपनी अगली फिल्म ‘हाइवे’ के दौरान भी उनके साथ ऐसा किया। उन्हें ना लेकर किसी और एक्टर को साइन कर लिया। बॉबी देओल अपने साथ हुए इस बेरुखे बर्ताव से खफा हैं और कहा है कि जब तक इम्तियाज उनके साथ कोई फिल्म नहीं बनाएंगे तब तक वो उनकी कोई फिल्म नहीं देखेंगे।

लेकिन अब देखना ये होगा कि बॉबी देओल के इस बड़े खुलासे पर इम्तियाज अली और करीना कपूर खान का क्या कहना होगा।

 

You May Also Like

English News