आतंक पर भारी पड़ा परीक्षार्थियों का जोश, बोर्ड परीक्षा में शामिल हुए 95% बच्चे

घाटी में चार महीने से अधिक समय से चली हिंसा के बावजूद  परीक्षाएं सोमवार से तय समय पर शांतिपूर्वक ढंग से शुरू हो गईं। 12वीं बोर्ड परीक्षा में शामिल हुए 95% बच्चे  की परीक्षा में 31964 में से 30213 परीक्षार्थी शामिल हुए। यानी 95 फीसदी विद्यार्थी परीक्षा में बैठे।
 
अमूमन हर साल अक्टूबर के महीने में परीक्षा होती रही है, लेकिन, इस बार सरकार ने नवंबर के दूसरे सप्ताह से इसे शुरू करने का फैसला किया। मंगलवार से दसवीं की परीक्षा शुरू होगी। पढ़ाई बाधित होने के कारण छात्रों को सिलेबस में रियायत दी गई है।

kashmir_1476348129पहले जब सरकार ने बोर्ड परीक्षा का एलान किया तो विद्यार्थियों, अभिभावकों के साथ ही राजनीतिक दलों ने भी इसका विरोध किया था। बाद में सरकार ने तिथि में बदलाव करने से मना करते हुए विकल्प दिए कि जो विद्यार्थी अभी परीक्षा न देना चाहें उनकी परीक्षा मार्च में भी ली जा सकती है। वहीं, नवंबर में होने वाली परीक्षा में ओपन च्वाइस की छूट दी। 

 
12वीं बोर्ड की परीक्षा के लिए कश्मीर में 484 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। श्रीनगर जिले में 5861 में से 5617 विद्यार्थी परीक्षा देने पहुंचे। सभी परीक्षा केंद्र विद्यार्थियों से भरे हुए थे। सभी परीक्षा केंद्रों में रविवार रात को ही सुरक्षा के कड़े प्रबंध कर दिए गए थे। सुबह से शाम तक पुलिस का पहरा परीक्षा केंद्रों में रहा।

पुलिस स्टेशन से पुलिस ने ही प्रश्न पत्र परीक्षा केंद्रों में पहुंचाएं। परीक्षा के बाद उत्तर पुस्तिकाओं को बोर्ड तक पहुंचाने की जिम्मेदारी परीक्षा केंद्र के सुपरिटेडेंट की थी। 15 नवंबर मंगलवार से कश्मीर में 10वीं की बोर्ड परीक्षा आरंभ हो रही है।

10वीं की बोर्ड परीक्षा के लिए भी बोर्ड व पुलिस ने पूरी तैयारी कर रखी है। परीक्षा खत्म होने के बाद विद्यार्थी खुश नजर आए। उनका कहना था कि प्रश्नपत्र आसान था। वे अनावश्यक डर रहे थे। 

12वीं बोर्ड की परीक्षा के लिए कश्मीर में 484 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। श्रीनगर जिले में 5861 में से 5617 विद्यार्थी परीक्षा देने पहुंचे। सभी परीक्षा केंद्र विद्यार्थियों से भरे हुए थे। सभी परीक्षा केंद्रों में रविवार रात को ही सुरक्षा के कड़े प्रबंध कर दिए गए थे। सुबह से शाम तक पुलिस का पहरा परीक्षा केंद्रों में रहा।

पुलिस स्टेशन से पुलिस ने ही प्रश्न पत्र परीक्षा केंद्रों में पहुंचाएं। परीक्षा के बाद उत्तर पुस्तिकाओं को बोर्ड तक पहुंचाने की जिम्मेदारी परीक्षा केंद्र के सुपरिटेडेंट की थी। 15 नवंबर मंगलवार से कश्मीर में 10वीं की बोर्ड परीक्षा आरंभ हो रही है।

10वीं की बोर्ड परीक्षा के लिए भी बोर्ड व पुलिस ने पूरी तैयारी कर रखी है। परीक्षा खत्म होने के बाद विद्यार्थी खुश नजर आए। उनका कहना था कि प्रश्नपत्र आसान था। वे अनावश्यक डर रहे थे। 

 
 

You May Also Like

English News