ब्रिटेन में भारत करेगा 1 अरब पाउंड का निवेश

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ब्रिटेन दौरे के सकारात्मक नतीजे सामने आने लगे हैं.द्विपक्षीय समझौते के तहत भारत अब ब्रिटेन में 1 अरब पाउंड से ज्यादा निवेश करेगा. इससे ब्रिटेन में भारतीयों  के लिए करीब 6 हजार नौकरियों का सृजन सम्भव हो सकेगा.लन्दन  : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ब्रिटेन दौरे के सकारात्मक नतीजे सामने आने लगे हैं.द्विपक्षीय समझौते के तहत भारत अब ब्रिटेन में 1 अरब पाउंड से ज्यादा निवेश करेगा. इससे ब्रिटेन में भारतीयों  के लिए करीब 6 हजार नौकरियों का सृजन सम्भव हो सकेगा.  उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ब्रिटेन दौरे में दोनों देशों ने एक प्रारूप पर दस्तखत किए हैं. यह 1 अरब पाउंड से ज्यादा का निवेश प्रौद्योगिकी, व्यापार और निवेश क्षेत्रों में किया जाएगा.प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ब्रिटेन की पीएम टेरेसा की बातचीत के बाद दोनों देशों के बीच यह समझौता हुआ. जिसकी घोषणा ब्रिटेन सरकार ने गुरुवार को नए इंडो-यूके व्यापार समझौते के तहत की. इस समझौते से दोनों देशों के रिश्ते और मजबूत होंगे.  गौरतलब है कि इन दिनों पीएम मोदी ब्रिटेन दौरे पर हैं. गुरुवार को वे राष्ट्रमंडल शिखर सम्मेलन में शामिल हुए.जहां उनका ब्रिटिश पीएम टेरेसा और स्कॉटलैंड के राष्ट्रमंडल महासचिव बैरोनेस पेट्रीसिया ने उनका स्वागत किया.मोदी ने राज्य के अन्य प्रमुखों के साथ विंडसर कैसल में बैठक की.इसमें 53 देशों में से 51देशों ने इस कॉमनवेल्थ समिट में भाग लिया. इसमें पाकिस्तान गैर मौजूद रहा.

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ब्रिटेन दौरे में दोनों देशों ने एक प्रारूप पर दस्तखत किए हैं. यह 1 अरब पाउंड से ज्यादा का निवेश प्रौद्योगिकी, व्यापार और निवेश क्षेत्रों में किया जाएगा.प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ब्रिटेन की पीएम टेरेसा की बातचीत के बाद दोनों देशों के बीच यह समझौता हुआ. जिसकी घोषणा ब्रिटेन सरकार ने गुरुवार को नए इंडो-यूके व्यापार समझौते के तहत की. इस समझौते से दोनों देशों के रिश्ते और मजबूत होंगे.

गौरतलब है कि इन दिनों पीएम मोदी ब्रिटेन दौरे पर हैं. गुरुवार को वे राष्ट्रमंडल शिखर सम्मेलन में शामिल हुए.जहां उनका ब्रिटिश पीएम टेरेसा और स्कॉटलैंड के राष्ट्रमंडल महासचिव बैरोनेस पेट्रीसिया ने उनका स्वागत किया.मोदी ने राज्य के अन्य प्रमुखों के साथ विंडसर कैसल में बैठक की.इसमें 53 देशों में से 51देशों ने इस कॉमनवेल्थ समिट में भाग लिया. इसमें पाकिस्तान गैर मौजूद रहा.

You May Also Like

English News