ब्रेकिंग न्यूज़: अब मंदिरों के बाहर नहीं दिखेगा मांस

सभी धार्मिक स्थलों पर सुबह चार से छह बजे तक पुलिस गश्त करे और इस बात का ध्यान रखे कि कोई धार्मिक स्थल के भीतर या आस-पास मांस फेंक कर तनाव पैदा ना कर सके।

अभी-अभी: आज रात से पूरे देश में शराब होगी बंद! जानिए क्या है इसकी सच्चाई!

दिल्ली पुलिस कमिश्नर के आदेश के अनुसार मंदिर, मस्जिद, गिरजाघर और गुरिद्वारें आदि के पास सुबह के वक्त पुलिस पैट्रोलिंग सुनिश्चित की जाएगी। एक अंग्रेजी अखबार के अनुसार, हाल ही में दिल्ली पुलिस हेडक्वार्टर में एक मीटिंग में अमूल्य पटनायक ने ये आदेश दिया। इसे पुलिस ने ‘गुड मॉर्निंग पैट्रोलिंग’ का नाम दिया गया है। 

छात्रा ने बताया दिल्ली पुलिस का सच, लड़कियों के साथ हुआ ये…

इस पैट्रोलिंग का मकसद धार्मिक स्थान के आस-पास किसी शरारती तत्व द्वारा फेंका गया मांस ढूंढ़ना होगा। पटनायक ने डिप्टी पुलिस कमिश्नरों से कहा कि ये प्रयास राजधानी को धार्मिक तनाव से दूर रखने में सहायक होगा। इससे असामाजिक तत्व किसी धार्मिक स्थल पर मांस के टुकड़े फेंक कर तनाव पैदा करने की कोशिश में नाकाम रहेंगे।

 
ऐसा देखने में आया है कि कुछ अशांति फैलाने वाले लोग मस्जिद, मंदिर या गुरुद्वारे के पास रात में मांस के टुकड़े फेंक जाते हैं। इससे जब सुबह लोग पूजा या नमाज के लिए आते हैं, तो उसको देख भड़क जाते हैं। देखने में आया है कि कई बार इस तरह की घटना तनाव की वजह बन जाती है, इसी से बचने के लिए दिल्ली पुलिस के कमिश्नर ने ये फैसला लिया है।
 
दिल्ली के ओखला में 2014 में मस्जिद में एक मरा हुआ सूअर डाल दिया गया था। 2015 में सरिता विहार के मंदिर में मांस डाला गया था। दोनों ही घटनाओं में लोगों में काफी गुस्सा देखा गया था और लोग भड़क गए थे। इनके अलावा भी कई मौकों पर धार्मिक स्थलों पर मांस फेंककर माहौल को खराब करने की कोशिश की जा चुकी है।

You May Also Like

English News