#बड़ा खुलासा: राम रहीम की गुफा के ये 5 रहस्य, जो डेरे की तलाशी के दूसरे दिन ही आये सामने….

डेरा सच्चा सौदा की तलाशी के दूसरे दिन राम रहीम की गुफा के कई ऐसे राज खुलकर सामने आए, देखकर सर्च टीम भौंचक्की रह गई। आप भी जानेंगे तो यकीं नहीं होगा।#बड़ा खुलासा: राम रहीम की गुफा के ये 5 रहस्य, जो डेरे की तलाशी के दूसरे दिन ही आये सामने....अभी-अभी आई एक बुरी खबर: HC ने शिक्षामित्रों के बाद माध्यमिक शिक्षकों के समायोजन पर लगी रोक

राम रहीम की गुफा में मिले तीन खुफिया रास्ते
डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की गुफा का राज सामने आ गया है। सर्च ऑपरेशन के दूसरे दिन शनिवार को बाबा की गुफा में तीन खुफिया रास्ते मिले हैं। इनमें से एक रास्ता सीधा साध्वियों के आश्रम में खुलता है, तो दूसरा गर्ल्स हॉस्टल में जाता है।

डेरा चीफ की गुफा की तीसरी मंजिल में फाइबर से बनी एक सुरंग मिली है। यह रास्ता मिट्टी डालकर बंद किया गया था। सुरंग के ऊपर भी मिट्टी डाली गई थी। यह सुरंग डेरा के किस भाग में जाती है इसकी जांच की जा रही है।

महिलाओं के अंडर गारमेंट्स मिले

वहीं, गुफा के कई आलीशान कमरों में महिलाओं के अंडर गारमेंट्स और विदेश मेकअप प्रोडक्ट्स मिले हैं। सुबह से अधिकारी गुफा के आलीशान भवनों और उनमें रखे बेश कीमती सामान की जांच कर रहे थे।

इसी दौरान फोरेंसिक टीम की नजर बड़ी-बड़ी खिड़कियों पर पड़ी। टीम को लगा खिड़कियों के पीछे कोई अलमारी होगी, लेकिन जैसे ही खिड़की खोली सभी हैरान रह गए। इसके पीछे गुप्त रास्ते मिले।

दोनों गुप्त रास्ते से होकर फोरेंसिक टीम आगे बढ़ी तो रास्ते का अंतिम छोर साध्वियों के आश्रम में जाकर खुला। साफ है कि गुफा के जिस राज की चर्चाएं हो रही हैं वह सच है। माना जा रहा है कि साध्वियों को इसी रास्ते से गुरमीत की गुफा में लाया जाता था।

गुफा में मिली एक खुफिया सुरंग
डेरामुखी की रहस्यमय गुफा का एक और राज खुलकर सामने आया है। अभी तक रेप पीड़ित साध्वियों और डेरामुखी के नजदीकी अनुयायी (जो डेरा छोड़ चुके हैं) यही दावा कर रहे थे कि डेरामुखी की गुफा से एक गोपनीय रास्ता वहीं साथ में मौजूद गर्ल्स हास्टल तक जाता है।

शायद यह किसी को भी मालूम नहीं था कि हॉस्टल तक जाने वाले इस गोपनीय रास्ते के अलावा भी डेरामुखी की गुफा में एक और खुफिया सुरंग थी। इसका निर्माण संभवत: ‘बचाव सुरंग’ के रूप में करवाया गया था।

क्योंकि इस खुफिया सुरंग का रास्ता डेरामुखी की गुफा से पांच किलोमीटर दूर निकलता है। सुरंग का यह रास्ता एक मिट्टी युक्त रास्ते की तरह है। जो पूरी तरह से खुफिया टाइप प्रतीत होती है। जांच टीम ने इस खुफिया सुरंग को भी खोज लिया है।

खासमखास ही जानते थे खुफिया सुरंग का राज
सूत्रों के अनुसार इस खुफिया सुरंग का राज केवल डेरामुखी के खासमखास लोग ही जानते थे। इसलिए आज तक कभी इस खुफिया सुरंग का जिक्र नहीं हुआ। इस बारे में डेरामुखी की गुफा में पहरा देने वाली साध्वियों को भी शायद इस बारे में मालूम नहीं था।

रेप पीड़ित साध्वियों ने भी अपने बयानों में सिर्फ गर्ल्स हास्टल में निकलने वाली गुफा का ही जिक्र किया था। इसकी आशंका से भी इनकार नहीं किया जा सकता कि इसी खुफिया सुरंग के जरिए गुफा की संदिग्ध सामग्री ठिकाने लगा दी गई हो।

डेरामुखी को रूसी किले का भी शौक
खुद को ईश्वर का दूत बताने वाले डेरामुखी को आकर्षक इमारतें बनाने का भी शौक था। सर्च टीम डेरे में इन इमारतों की बनावट को देखकर भी दंग रह गई। यहां सात सितारा एमएसजी रिसोर्ट, शॉपिंगमॉल, स्टेडियम, एक इंटरनेशनल स्कूल, अस्पताल, सिनेमा घर, फैक्ट्रियों के अलावा एफिल टॉवर, ताजमहल, रूस में बने क्रेमलिन (किले) और डिजनी वर्ल्ड जैसी इमारतों की प्रतिकृतियां डेरा परिसर में बनवाई गई हैं। इन सभी इमारतों पर डेरामुखी के आकर्षक चित्र भी मौजूद हैं।

You May Also Like

English News