#बड़ी खबर: अवैध ISD कॉल रोकने के लिए ट्राई ने टर्मिनेशन शुल्क घटाया

दूरसंचार नियामक संस्था ट्राई अवैध ‘वॉयस ओवर इंटरनेट प्रोटोकॉल’ को रोकने के लिए पूरी कोशिश कर रहा है. यही वजह है कि उसने डोमेस्टिक कॉल्स पर टर्मिनेशन शुल्क को घटाने के बाद अब अंतरराष्ट्रीय इनकमिंग कॉल के टर्मिनेशन शुल्क की दरों को भी 53 पैसे प्रति मिनट से घटाकर आज 30 पैसे प्रति मिनट कर दिया. नई दरें एक फरवरी से प्रभावी होंगी.#बड़ी खबर: अवैध ISD कॉल रोकने के लिए ट्राई ने टर्मिनेशन शुल्क घटायासरकार हवाई ईंधन को जीएसटी के दायरे में लाने की कर रहा हैं तैयारी…

दूरसंचार नियामक ट्राई के एक आधिकारिक बयान में यह जानकारी दी गयी कि ‘‘प्राधिकरण ने किसी अंतरराष्ट्रीय सेवा प्रदाता द्वारा कॉल स्वीकार करने वाले नेटवर्क को किये जाने वाले भुगतान की दर 53 पैसे प्रति मिनट से कम कर 30 पैसे प्रति मिनट कर दिया है.’’

इस घोषणा के साथ ही ट्राई ने अवैध तरीकों की मौजूदगी का भी जिक्र किया है. विदेश से भारत किये जाने वाले कॉल पर शुल्क से बचने के लिए अवैध ‘वॉयस ओवर इंटरनेट प्रोटोकॉल’ बनाकर आईएसडी कॉल किये जाते हैं. ट्राई ने कहा कि इन्हें समाप्त किये जाने की जरूरत है. उम्मीद है कि इससे कंपनियां आईएसडी कॉल सस्ती करेंगी.

ट्राई ने कहा कि अवैध तरीकों से देश की सुरक्षा को गंभीर चुनौती होने के साथ ही देश और घरेलू दूरसंचार कंपनियों को राजस्व का भी नुकसान होता है. 

आपको बता दें कि इससे पहले पिछले महीने ट्राई ने डोमेस्टिक कॉल्स पर टर्मिनेशन शुल्क की दर को 1 अक्टूबर से प्रति मिनट 14 पैसे से घटाकर 6 पैसे करने का फैसला किया था. इसी के साथ ट्राई ने ऐलान किया था कि 1 जनवरी, 2020 से किसी तरह का टर्मिनेशनल शुल्क नहीं लगेगा.

ट्राई की घोषणा से रिलायंस जियो को छोड़ बाकी सभी टेलीकॉम कंपनियां सकते में आ गई थीं. उनका कहना था कि इससे पहले से वित्तीय रूप से परेशान टेलीकॉम उद्योग और दबाव में आ जाएगा.

You May Also Like

English News