बड़ी खबर: ‘ओखी’ प्रभावित क्षेत्र में मदद के लिए योगी ने PM को दिया 5 करोड़ का चेक

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की. दक्षिण भारत में आए तूफान ‘ओखी’ से प्रभावित क्षेत्रों की मदद के लिए योगी ने पीएम को 5 करोड़ का चेक दिया. ये फंड मुख्यमंत्री रिलीफ फंड में जमा राशि से दिया गया है. बता दें कि मंगलवार को यूपी CM समेत नगर निकाय चुनाव में चुन कर आए बीजेपी के नए मेयरों ने पीएम मोदी से मुलाकात की है. बड़ी खबर: 'ओखी' प्रभावित क्षेत्र में मदद के लिए योगी ने PM को दिया 5 करोड़ का चेक

RBI मौद्रिक समिति की बैठक में आज सामने आ सकती हैं ये चुनौतियां

गौरतलब है कि दक्षिण भारत में ओखी के कारण काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. ओखी अब गुजरात तक पहुंच चुका है, जिसके कारण चुनाव प्रचार भी प्रभावित हो रहा है. तूफान के कारण यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ समेत 14 मेयरों का दौरा भी टल गया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी मंगलवार को ट्वीट किया कि वह ओखी पर पूरी नजर बनाए हुए हैं. इसके अलावा उन्होंने गुजरात में बीजेपी कार्यकर्ताओं से लोगों की मदद करने की अपील की है. उन्होंने कहा कि बीजेपी कार्यकर्ताओं को लोगों की मदद करने के लिए हर संभव प्रयास करना चाहिए.

शाह-वसुंधरा की रैलियों पर भी असर

अलावा भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह की मंगलवार को होने वाली राजुला, माहुवा और शिहोर में रैलियों को रद्द कर दिया है. ओखी तूफान के कारण वहां पर तेज बारिश और हवाएं चल रही हैं, जिसके कारण उस इलाके में हेलिकॉप्टर उतरना आसान नहीं है. यही कारण है कि रैलियों को रद्द कर दिया गया है. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के अलावा राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की रैली भी रद्द हो गई है. वसुंधरा को माजूरा, सूरत में रैली को संबोधित करना था.

ओखी के कारण दक्षिण भारत में अलर्ट

पिछले कुछ दिनों से देश के तटियों इलाकों को नुकसान पहुचाने के बाद ओखी तूफान सोमवार सुबह से गुजरात का रुख कर चुका है. गुजरात की ओर जाने से रायगढ़ सहित कोंकण का तटीय क्षेत्र सुरक्षित तो है लेकिन मौसम विभाग के अनुसार डर अभी भी बना हुआ है.

आपको बता दें कि ओखी पिछले कुछ दिनों से दक्षिण भारत में अपना कहर दिखा रहा है. साइक्लोन के अंदर उमड़-घुमड़ रही हवाओं के हिसाब से अब यह इसे अति भीषण साइक्लोन माना जा रहा है. इसमें 150 से 170 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चल रही है और हवा के झोंकों की रफ्तार 180 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंच जा रही है.

गुजरात में भी है खतरा

साइक्लोन सेंटर के मुताबिक, उत्तर महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात के समुद्र तटीय इलाकों में 4 दिसंबर की रात से लेकर 6 दिसंबर की सुबह तक 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से लेकर 70 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार की तेज हवाएं चलेंगी. इस वजह से इन इलाकों में समंदर में ऊंची-ऊंची लहरें उठेंगी.  लोगों को समुद्र तट से दूर रहने की सलाह दी गई है.

You May Also Like

English News