बड़ी खबर: डीएल बनवाने के लिए नहीं लानी होगी अपनी कार, ऐसे होगी टेस्ट ड्राइविंग

डीएल के लिए टेस्ट ड्राइविंग की परीक्षा में आवेदकों को अपनी कार नहीं लानी होगी। कार ड्राइविंग का प्रशिक्षण देने वाले संस्थानों की कार से आरटीओ अधिकारी टेस्ट ड्राइविंग लेंगे।बड़ी खबर: डीएल बनवाने के लिए नहीं लानी होगी अपनी कार, ऐसे होगी टेस्ट ड्राइविंगइससे एक ओर जहां आवेदकों को राहत हो जाएगी, वहीं लखनऊ में ट्रांसपोर्टनगर स्थित आरटीओ कार्यालय केबाहर जाम का झंझट भी खत्म हो जाएगा। आरटीओ प्रशासन एके सिंह ने बताया कि इस सुविधा से आवेदकों को राहत मिलेगी।

इसे स्टार्ट करने के लिए परिवहन आयुक्त मुख्यालय स्तर पर बातचीत चल रही है। पहली फरवरी से यह सुविधा आरटीओ कार्यालय में शुरू होने की उम्मीद है। बता दें कि लखनऊ में करीब 30 मोटर ट्रेनिंग स्कूल हैं।

जो रोजाना एक-एक गाड़ी टेस्ट ड्राइविंग केउपलब्ध कराएंगे। उनकी गाड़ी का नंबर आरटीओ कार्यालय में दर्ज होगा। आरटीओ कार्यालय में नई व्यवस्था लागू होने से उन आवेदकों की दिक्कतें बढ़ गई हैं जो जुगाड़ के सहारे बाइक से जाकर चार पहिया गाड़ी का ड्राइविंग लाइसेंस बनवाते थे। 

ऑफलाइन नहीं बनेंगे ड्राइविंग लाइसेंस

वहीं ड्राइविंग लाइसेंस से जुड़े सारे काम अब ऑनलाइन होंगे। पैसा जमा करने से लेकर रिन्यूवल तक की सारी प्रक्रिया ऑनलाइन होगी। ट्रांसपोर्टनगर स्थित आरटीओ कार्यालय में सोमवार से ऑफलाइन काम पूरी तरह से बंद कर दिया गया।

एआरटीओ प्रशासन राघवेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि सोमवार से ऑफलाइन प्रक्रिया खत्म कर दी गई। स्थायी व लर्निंग लाइसेंस व डुप्लीकेट और रिन्यूवल लाइसेंस के लिए आवेदन भी ऑनलाइन ही मान्य होगा, जिसकी फीस ऑनलाइन ही जमा होगी।

आवेदन आरटीओ की वेबसाइट पर होगा। अगर लाइसेंस रिन्यूवल कराना है या फिर डुप्लिकेट लाइसेंस बनवाना है तो पहले स्लाट लें और उसके बाद ही कार्यालय आएं। साथ ही आवेदक आरटीओ कार्यालय में पुराना लाइसेंस फीड कराकर उसका नम्बर जनरेट करवा लें।

You May Also Like

English News