दिवाली बाद पार्टी अध्यक्ष की जिम्मेदारी सभालेंगे राहुल गांधी: कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने राहुल गांधी के जल्द पार्टी अध्यक्ष बनाए जाने के संकेत दिए हैं। उन्होंने पहली बार इस बारे में पत्रकारों द्वारा पूछे गए सवाल का जवाब दिया। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि राहुल को बहुत जल्द पार्टी की कमान सौंप दी जाएगी। हालांकि राहुल गांधी ने इस पर कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया। दिवाली बाद पार्टी अध्यक्ष की जिम्मेदारी सभालेंगे राहुल गांधी: कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी
कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि राहुल दिवाली के बाद पार्टी अध्यक्ष की जिम्मेदारी संभाल सकते हैं। गौरतलब है कि लंबे समय से पार्टी के नेता राहुल को कमान सौंपने की मांग कर रहे हैं। कांग्रेस का संगठनात्मक चुनाव चल रहा है और ज्यादातर राज्यों की पार्टी इकाई ने राहुल गांधी से यह जिम्मेदारी संभालने के प्रस्ताव पारित कर दिए हैं। 

राज्यों के प्रस्ताव से बना राहुल की ताजपोशी का माहौल

राज्यों में हो रहे कांग्रेस के संगठनात्मक चुनाव के साथ ही राहुल गांधी की ताजपोशी का भी माहौल तैयार हो रहा है। जिन राज्यों ने चुनाव प्रक्रिया पूरी कर अखिल भारतीय कांग्रेस के लिए प्रतिनिधि चुन लिए हैं, उनके प्रतिनिधियों ने राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाने के लिए सर्वसम्मति से एक प्रस्ताव भी पारित किया है। राज्यों के प्रस्ताव राहुल को निर्विरोध चुने जाने का संदेश देकर राह आसान बना रहे हैं।

कांग्रेस के संगठनात्मक चुनाव अंतिम पड़ाव में हैं। अधिकतर राज्यों में चुनाव के जरिये प्रतिनिधियों का चयन भी कर लिया है। हालांकि सबसे महत्वपूर्ण राज्य उत्तर प्रदेश पीछे रह गया है। करीब एक दर्जन ऐसे राज्य हैं जिन्होंने संगठन चुनाव के साथ राहुल को अध्यक्ष चुने जाने का प्रस्ताव भी परित किया है। सबसे पहले चुनाव प्रक्रिया पूरी करने वाले तमिलनाडु के साथ दिल्ली, राजस्थान, महाराष्ट्र, असम, पंजाब, हरियाणा, गोवा, उत्तराखंड आदि राज्यों ने राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाए जाने का समर्थन कर अपनी मंशा साफ कर दी है।

हालांकि चुनाव की स्थिति में प्रस्ताव पारित करने वाले राज्यों के चुने गए प्रतिनिधियों को मतदान में हिस्सा लेना होगा। पार्टी प्रवक्ता आरपीएन सिंह का कहना है कि अगले दो तीन दिनोें में सभी राज्यों में चुनाव प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी।

पार्टी के संगठनात्मक चुनाव तय प्रक्रिया और तय समय 31 अक्तूबर तक पूरे किए जाने हैं। उम्मीद है कि दिवाली से पहले अध्यक्ष के चुनाव के नामांकन, नाम वापसी और चुनाव तिथि आदि घोषित कर दी जाएगी। इसके लिए जल्द ही कार्यसमिति की बैठक भी बुलाई जा सकती है। कांग्रेस 25 अक्तूबर तक हर हाल में अपना अध्यक्ष चुन लेना चाहती है।कांग्रेस ने छह राज्यों में संगठनात्मक चुनाव न कराने का फैसला लिया था। इसमें गुजरात, हिमाचल के साथ कर्नाटक शामिल हैं जहां जल्द विधानसभा चुनाव होने हैं। इसके अलावा उड़ीसा, नगालैंड और त्रिपुरा में भी चुनाव नहीं हो रहे हैं।

You May Also Like

English News