बड़ी खबर: बदले गए यूपी बोर्ड के 1038 परीक्षा केंद्र, दूसरी सूची हुई जारी

माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) 2018 की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा के लिए दूसरी सूची में प्रदेश भर में जनपद स्तर से 1038 नए केंद्र बना दिए गए, जिसमें से अकेले 750 वित्त विहीन विद्यालय हैं।बड़ी खबर: बदले गए यूपी बोर्ड के 1038 परीक्षा केंद्र, दूसरी सूची हुई जारी

राहुल गांधी को विपक्ष का चेहरा बनाए जाने को तैयार नहीं हैं मुलायम

परिषद की ओर से ऑनलाइन निर्धारित किए गए केंद्रों में जनपद स्तर पर जिला विद्यालय निरीक्षकों (डीआईओएस) ने राजकीय, अशासकीय और वित्त विहीन कुल 555 परीक्षा केंद्रों को बदला और उसके स्थान पर 1038 नए केंद्र बनाए। इसमें सबसे ज्यादा फायदा वित्त विहीन विद्यालयों को पहुंचाया गया।

हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा के लिए विद्यालयों से आवेदन आने के बाद परिषद ने कुल 8057 ऑनलाइन परीक्षा केंद्र निर्धारित किए। इसके तहत प्रदेशभर में 377 राजकीय विद्यालय, 3437 अशासकीय विद्यालय तथा 4243 वित्त विहीन विद्यालय परीक्षा केंद्र बनाए गए।

इस सूची को परिषद की वेबसाइट पर अपलोड करने के बाद आपत्तियां ली गईं। जनपदों से प्राप्त आपत्तियों के  निस्तारण के बाद परीक्षा केंद्रों की संख्या बढ़कर 8540 हो गई। इसमें राजकीय विद्यालयों की संख्या 423, अशासकीय की 3477 तथा वित्त विहीन विद्यालयों की संख्या 4640 हो गई।

इसमें पहले 55 राजकीय, 149 अशासकीय एवं 351 वित्त विहीन यानी 555 विद्यालयों को बाहर किया गया। इसके बाद क्रमश: 101, 187 एवं 750 विद्यालय कुल 1038 नए जोड़ दिए गए।

यह हाल तब हुआ, जब सरकार ने वित्त विहीन विद्यालयों को कम परीक्षा केंद्र बनाने का आदेश दिया था। इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि कुल 8540 में से 4640 वित्त विहीन विद्यालय परीक्षा केंद्र बना गए।

हालांकि पिछली बार के मुकाबले इस बार 2874 परीक्षा केंद्र हुए हैं। वर्ष 2017 में कुल 11414 परीक्षा केंद्र थे, जिसमें 513 राजकीय, 3692 अशासकीय और 7209 वित्त विहीन विद्यालय शामिल थे।

इस बार यह संख्या 8540 रह गए हैं, जिसमें 90 राजकीय, 215 अशासकीय और 2569 वित्त विहीन विद्यालय कम हुए हैं।

You May Also Like

English News